ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: किसानों के यूनियनों ने दी मोदी को काले झंडे दिखाने की धमकी, इस बात से हैं नाराज

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): किसान यूनियन का कहना है कि जब नरेंद्र मोदी फसलों के लिए एमएसपी में अपनी तथाकथित बढ़ोतरी की घोषणा करने के लिए मलोट आए थे, हमने उस समय भी उनका विरोध किया था।

Modiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

Lok Sabha Election 2019: केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर को भटिंडा में चुनावी अभियान के दौरान काला झंडा दिखाए जाने के एक दिन बाद प्रदर्शन कर रहे किसान संगठन ने कहा कि सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी ऐसा ही करेंगे। दरअसल, प्रधानमंत्री शिरोमणि अकाली दल और भाजपा के संयुक्त उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करने सोमवार को भटिंडा आ रहे हैं। हरसिमरत और उनके समर्थक शनिवार को मंडल कलां-बादल गांव में स्टेट हाईवे पर करीब 90 मिनट तक रूकी भी थी, जहां उनका विरोध हुआ था।

भारती किसान यूनियन (सिद्धूपुर) के सदस्य, जिन्होंने भटिंडा के निवर्तमान सांसद को शनिवार की सुबह कई गांव में काला झंडा दिखाया था, ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी इसी तरह विरोध करेंगे। इस बीच प्रदर्शनकारी, जो बरगरी मोर्चा का हिस्सा थे, ने कहा, “वे बादल को काला झंडा दिखाना जारी रखेंगे।”

बीकेयू (सिद्धूपुर), पटियाला यूनिट के अध्यक्ष गुरबक्स सिंह कहते हैं, “जब नरेंद्र मोदी फसलों के लिए एमएसपी में अपनी तथाकथित बढ़ोतरी की घोषणा करने के लिए मलोट आए थे, हमने उस समय भी उनका विरोध किया था। हमने एक धरना का आयोजन किया था, और पुलिस द्वारा हमें रोक दिया गया था। हम आज फिर उसी तरह से करेंगे। हमारे संगठन में शामिल पूरे राज्य के किसान धरना का हिस्सा बनने के लिए आ रहे हैं और हम मोदी को काला झंडा दिखाएंगे। हम जानते हैं कि हमारे प्रदर्शन मार्च का पुलिस रोक देगी, लेकिन हम उसी जगह धरने पर बैठ जाएंगे, जहां हमे रोका जाएगा। नरेंद्र मोदी ने 2014 में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था, लेकिन कुछ नहीं हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल अक्सर कहते हैं कि यह चुनाव देश के प्रधानमंत्री को चुनने का है, इसलिए लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा किए गए वादे को लेकर ही प्रदर्शन कर रहे हैं।”

हरसिमरत कौर द्वारा प्रदर्शनकारियों को कांग्रेस का एजेंट बताए जाने पर गुरबक्स सिंह कहते हैं, “वे हमे काले झंडे दिखाने से नहीं रोक सकते हैं। वह और शिअद के नेता हमें धमकाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हम अपना संघर्ष जारी रखेंगे।” बरगारी मोर्चा का हिस्सा रह चुके यूनाइटेड अकाली दल के यदविंदर सिंह बठिंडा ने कहा, “हम सिर्फ काले झंडे दिखा और शांतिपूर्वक धरना कर कैसे किसी पर हमला कर सकते हैं? इससे पता चलता है कि सांसद को डर है कि वह हारने वाली है। सिख संगत नेकाले झंडे दिखाए और एक शांतिपूर्ण धरना कर रहे थे। वे आगे भी ऐसा ही करते रहेंगे।”

इस बीच हरसिमरत कौर ने कहा, “मुख्यमंत्री अमिरंदर सिंह और कांग्रेस प्रत्याशी राजा वारिंग की शह पर भटिंडा में कुछ गुंडे आ गए हैं। इसमें राज्य की पुलिस भी शिअद की बैठक में व्यवधान उत्पन्न करने में उनकी सहायता कर रही है। बाहरी लोगों को आपराधिक गतिविधियों में लिप्त होने से रोका जाना चाहिए। उपद्रवियों की पहचान की जानी चाहिए और उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए।” सीएम अमरिंदर ने पलटवार करते हुए कहा कि अकालियों को जनता के क्रोध का सामना करना पड़ रहा है।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 बिहार में नीतीश सरकार ने पांच साल में विज्ञापन पर लुटाए 500 करोड़ रुपये, चुनावी साल में खर्च किए सबसे ज्यादा
2 West Bengal: जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा था पति, वोट डालने गई थी पत्नी, जानें पूरा मामला
3 Loksabha Elections 2019: 1987-88 में मैंने प्रयोग किया था डिजिटल कैमरा- अब नरेंद्र मोदी के इस बयान पर कांग्रेस आईटी हेड ने लिए मजे
यह पढ़ा क्या?
X