ताज़ा खबर
 

‘आज के दौर की मंथरा-कैकयी हैं BJP और RSS, राम को वनवास पर भेजा’

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कैकेयी और मंथरा ने तो भगवान राम को 14 साल के लिए वनवास भेजा था। आज की मंथरा और कैकेयी कौन हैं? भाजपा और आरएसएस हैं।

Author Updated: April 9, 2019 8:54 AM
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ( फोटो सोर्स : ANI )

Lok Sabha Election 2019: भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में इस बार भी राम मंदिर निर्माण के वादा किए जाने को लेकर कांग्रेस ने सोमवार (8 अप्रैल) को कटाक्ष किया है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी एवं आरएसएस ‘‘आज के दौर की मंथरा और कैकेयी’’ हैं जिन्होंने भगवान राम को 30 वर्षों से वनवास भेज रखा है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक सवाल के जवाब में संवाददाताओं से कहा, ‘‘कैकेयी और मंथरा ने तो भगवान राम को 14 साल के लिए वनवास भेजा था। आज की मंथरा और कैकेयी कौन हैं? भाजपा और आरएसएस हैं। इन्होंने 30 साल से भगवान राम को वनवास भिजवा रखा है। ये लोग हर बार चुनाव से पहले भगवान राम के मंदिर को घोषणापत्र में वापस लाते हैं और अपना राजतिलक होने के बाद उनको वापस वनवास भेज देते हैं। देश इनके छल और कपट को पहचान चुका है।’’ दरअसल, भाजपा ने अपने घोषणापत्र में वादा किया है कि सौहार्दपूर्ण ढंग से राम मंदिर निर्माण के लिए संभावाना तलाशी जाएगी।

तीन तलाक कानून से जुड़े भाजपा के वादे पर सुरजेवाला ने कहा, ‘‘ भाजपा हर चीज का इस्तेमाल विभाजन के लिए करती है, क्योंकि ये उनके डीएनए में है। वे पति को पत्नी से लड़ाना चाहते हैं, वे चाहे नोटबंदी हो या कोई और कानून हो। वे एक जाति को दूसरी जाति से लड़ाना चाहते हैं। वे एक धर्म को दूसरे धर्म से लडाना चाहते हैं।’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा के लोग गुजरात जाएंगे तो पटेल और गैर पटेल की राजनीति करेंगे। वे महाराष्ट्र जाएंगे तो मराठा और गैर मराठा की राजनीति करेंगे। वे राजस्थान जाएंगे तो वहाँ गुर्जर बनाम राजपूत की राजनीति करेंगे। वे पंजाब जाएंगे तो वहां हिंदू बनाम सिख की राजनीति करेंगे। वे हरियाणा आएंगे तो जाट बनाम गैर जाट की राजनीति करेंगे। वे उत्तर प्रदेश जाएंगे तो मुस्लिम बनाम हिंदू की राजनीति करेंगे। ऐसे लोगों को सिरे से खारिज करना ही सही है, इसलिए अब होगा ‘न्याय’।’’

रणदीप सुरजेवाला दावा किया, ‘‘मोदी जी का मूल मंत्र है, झांसे में फांसो। मोदी सरकार का सफरनामा जो आज हमने देखा है, वो जुमलों से झांसों तक है। 125 करोड़ देशवासी मोदी जी के 125 झूठे वादों का जवाब मांग रहे हैं। जब साल 2014 के घोषणा पत्र के 125 सवाल खड़े हों, तो आज के झांसा पत्र, ये संकल्प पत्र नहीं है, आज के झांसा पत्र पर भरोसा कैसे करें?’’ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए कहा, ‘‘फिर एक बार उन्होंने किया झांसा पत्र तैयार, फिर एक बार उन्होंने किया झांसा पत्र तैयार, देश की जनता खारिज करेगी इस बार और झोला उठाकर हो जाओ जाने को तैयार।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 न एनडीए, न यूपीए: किसी के पाले में नहीं हैं ये तीन क्षत्रप, चुनाव बाद साबित हो सकते हैं किंगमेकर
2 Lok Sabha Election 2019: नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ सोशल मीडिया पर लिखने पर NSA में बंद था पत्रकार, कोर्ट ने किया रिहा
3 Lok Sabha Election 2019: वोटिंग वाली सेल्फी इस नंबर पर भेजो और फ्री मूवी टिकट पाओ, मतदाता जागरूकता के लिए अनोखी पहल
IPL 2020
X