ताज़ा खबर
 

Video: आचार संहिता को लेकर अफसर और बीजेपी महासचिव उलझे, कहा- माइक क्‍या सिर पर लगाऊं?

वीडियो में आचार संहिता को लेकर पुलिस अफसर और बीजेपी महासचिव एक दूसरे से बहस करते नजर आए। लाउडस्पीकर को लेकर पुलिस अधिकारी के सवाल करने पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि क्या वे माइक सिर पर लगाएं?

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से बात करते पुलिस अधिकारी। (फोटो: Video grab image)

Loksabha Election 2019: पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) एक-दूसरे के खिलाफ आक्रमक प्रचार कर रही है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मंगलवार (14 मई 2019) को बंगाल में होने वाली रैली से पहले बवाल हो गया। कोलकाता पुलिस ने रैली स्थल पर पहुंचकर रैली की परमिशन से जुड़े दस्तावेज मांगें। इस दौरान आचार संहिता को लेकर पुलिस अधिकारी और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय उलझ पड़े। बीजेपी महासचिव ने इसका एक वीडियो भी शेयर किया है।

वीडियो में आचार संहिता को लेकर पुलिस अफसर और बीजेपी महासचिव एक दूसरे से बहस करते नजर आए। लाउडस्पीकर को लेकर पुलिस अधिकारी के सवाल करने पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि क्या वे माइक सिर पर लगाएं? इस दौरान पुलिस अधिकारी का कहना था कि बीजेपी चुनाव आचार संहिता का पालन नहीं कर रही।

विजयवर्गीय ने एक वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया ‘पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने बीजेपी को परेशान करने के लिए प्रशासन को खुला छोड़ रखा है। अमित शाह की रैली में अड़चन डालने के लिए लाउडस्पीकर को पुलिस ने मुद्दा बना लिया। ये चुनाव आचार संहिता है या ममता सरकार की हठधर्मी?’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा ‘अमित शाह की कोलकाता रैली को फेल करने के लिए ममता सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही। स्वागत मंच नहीं लगाने दिए गए और सड़क के दोनों और लगाए गुब्बारे और होर्डिंग भी ने निकाल दिए। आपको ये राजनीतिक वैमनस्यता बहुत भारी पड़ेगी दीदी।’

बता दें कि अमित शाह का उत्तरी कोलकाता में रोड शो का कार्यक्रम है। यह रोड शो धर्मतल्ला के शहीद मीनार मैदान से मनिकतल्ला के स्वामी विवेकानंद हाउस तक है। इससे पहले अमित शाह की सोमवार (13 मई 2019) को जादवपुर में होने वाली रैली को रद्द किया जा चुका है। रोड शो से पहले पुलिस द्वारा रैली को लेकर लगातार पूछताछ से आस-पास के इलाकों में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच माहौल तनावपूर्ण हो गया।

गौरतलब है कि बीजेपी पश्चिम बंगाल की ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। 19 मई को सातवें चरण के तहत राज्य की 9 सीटों पर मतदान किया जाएगा। यह वह सीटें हैं जहां टीएमसी की स्थिति बेहद मजबूत है। इससे पहले हुए 6 चरण के चुनाव में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें भी हो चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X