ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: वायनाड में भी राहुल गांधी को चुनौती देंगी स्‍मृति ईरानी! सहयोगी दल से बीजेपी ने की डील

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): वायनाड सीट पर चुनाव में कड़ी टक्कर देने के लिए भाजपा राहुल गांधी के खिलाफ स्मृति ईरानी को उतारने की तैयारी में है। इसके लिए सहयोगी दल से डील भी हो चुकी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भाजपा नेत्री स्मृति ईरानी। (Photo: PTI)

Lok Sabha Election 2019: केरल कांग्रेस चाहती है कि राहुल वायनाड से लोकसभा चुनाव लड़ें। प्रदेश कांग्रेस ने वायनाड लोकसभा सीट के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी (एआईसीसी) अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम प्रस्तावित किया है। यह सीट राज्य में पार्टी का गढ़ मानी जाती है। इसके बाद अमेठी से कांग्रेस विधायक दीपक सिंह ने भी पुष्टि की है कि राहुल गांधी अमेठी के अलावा केरल के वायनाड से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इस बीच खबर ये है कि वयनाड सीट पर भी भाजपा की स्मृति ईरानी राहुल गांधी को चुनौती देंगी। इस बाबत भाजपा की सहयोगी दल से डील भी हो चुकी है।

मराठीभूमि की रिपोर्ट के अनुसार, वायनाड सीट पर चुनाव में कड़ी टक्कर देने के लिए भाजपा राहुल गांधी के खिलाफ स्मृति ईरानी को उतारने की तैयारी में है। इसके लिए भाजपा एनडीए उम्मीदवार को हटा सीट को अपने कब्जे में लेगी। इससे पहले, वायनाड सीट गठबंधन के तहत बीडीजेएस को दिया गया था। यदि स्मृति ईरानी को किसी तरह की असुविधा होती है तो भाजपा के किसी राज्य स्तरीय नेता को यहां से मैदान में उतारा जाएगा।

रिपोर्ट के अनुसार, एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने संकेत दिया कि स्मृति हर हाल में सीट से चुनाव लड़ेंगी। ऐसी चर्चा के बाद कि राहुल गांधी को अमेठी से चुनाव हारने का डर सता रहा है, इसलिए उन्होंने एक और निर्वाचन क्षेत्र चुना है। भाजपा अमेठी के उसी प्रतिद्वंद्वी को वायनाड में उतार राहुल गांधी को कड़ी टक्कर देने की तैयारी में है। भाजपा और बीडीजेएस के बीच सीट बदलने को लेकर समझौता हो चुका है। इससे पहले बीडीजेएस ने अंटो अगस्टाइन को मैदान में उतारने का फैसला किया था।

बता दें कि स्मृति ईरानी उत्तर प्रदेश के अमेठी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कड़ी टक्कर देने की तैयारी में हैं। पूरे चुनाव के दौरान वे अमेठी में डेरा डाले रहेंगी। इसके लिए अमेठी के गौरीगंज में उनके ठहरने के लिए एक घर भी तैयार कराया जा रहा है। वहीं, कार्यकर्ता भी चुनावी सभाओं की तैयारी में जुटे हैं। केंद्रीय मंत्री द्वारा पिछले पांच साल में उनके द्वारा शुरू की गई करीब 48 योजनाओं की सूची बनाई जा रही है। हालांकि, पिछले 2014 लोकसभा चुनाव में अमेठी से ही स्मृति ईरानी चुनाव लड़ी थी, लेकिन मोदी लहर के बावजूद वे हार गईं थी। इस बार भाजपा ने फिर से उन्हें मैदान में उतारा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App