ताज़ा खबर
 

Loksaba Elections 2019: महात्मा गांधी को बताया ‘पाकिस्तान का राष्ट्रपिता’, बीजेपी से अनिल सौमित्र निलंबित

Loksaba Elections 2019: सौमित्र ने सोशल मीडिया पर इस बाबत एक पोस्ट किया था, जिस पर उनकी पार्टी स्थाई सदस्यता निलंबित कर दी गई। साथ ही उन्हें सात दिनों के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया है।

Loksaba Elections 2019, Anil Saumitra, BJP, Madhya Pradesh, Suspend, FB Post, Mahatma Gandhi, Pakistan, Father of Nationa, Amit Shah, Shivraj Singh Chauhan, MP, State News, Indian News, National News, Hindi Newsराजनीति में आने से पहले सौमित्र पत्रकारिता और लेखन के क्षेत्र में सक्रिय थे। (फाइल फोटोः fb/anilsaumitra)

Loksaba Elections 2019: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता और नेता अनिल सौमित्र को निलंबित कर दिया गया है। शुक्रवार (17 मई, 2019) दोपहर उनके खिलाफ यह कार्रवाई उस बयान के चलते की गई, जिसमें उन्होंने महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता करार दिया था। सौमित्र ने सोशल मीडिया पर इस बाबत एक पोस्ट किया था, जिस पर उनकी पार्टी स्थाई सदस्यता निलंबित कर दी गई। साथ ही उन्हें सात दिनों के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया है।

दरअसल, गुरुवार (16 मई) को सौमित्र ने बापू को लेकर किए एक एफबी पोस्ट में लिखा था, “राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक, तो कुछ नालायक।” यह है उनका एफबी पोस्टः

म.प्र बीजेपी प्रमुख राकेश सिंह ने इस मसले पर जांच के आदेश दिए हैं और सौमित्र को निर्देश दिए हैं कि वह सात दिनों के भीतर सफाई दें। बता दें ति सौमित्र बीजेपी के मीडिया संपर्क विभाग के सर्वेसर्वा भी हैं। सक्रिय तौर पर राजनीति में आने से पहले वह पत्रकारिता और लेखन के क्षेत्र में थे। उनके फेसबुक प्रोफाइल के मुताबिक, वह चरैवेति (मासिक) पत्रिका के संपादक रह चुके हैं, जबकि स्पंदन नाम के संस्थान के मौजूदा समय में सचिव हैं।

सौमित्र पर गाज ऐसे समय पर गिरी है, जब बीजेपी की चारों तरफ भोपाल से पार्टी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की वजह से कड़ी आलोचना हो रही है। दरअसल, हाल ही में कमल हासन ने बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकवादी’ करार दिया था। इसी पर चुनाव प्रचार के दौरान साध्वी से सवाल हुआ तो उन्होंने कहा था, “नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे।”

हालांकि, उनके इस बयान के कुछ ही क्षणों बाद पार्टी ने इससे किनारा कर लिया और कड़ी भर्त्सना की। कहा गया कि यह साध्वी की निजी राय है और बीजेपी इससे इत्तेफाक नहीं रखती। पार्टी ने इसके साथ ही उन्हें बयान के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने के लिए भी कहा था, जिसके बाद उन्होंने माफी मांगी थी। कहा था कि पार्टी लाइन ही उनकी लाइन है।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 PM मोदी ने साध्वी प्रज्ञा के गोडसे वाले बयान को बताया बहुत खराब, कहा- उन्हें दिल से नहीं कर पाऊंगा माफ
2 मायावती का आरोप, कहा- वाराणसी में मोदी ने वोटरों को घूस दिए, धमकाया, लेकिन चुनाव आयोग नहीं दे रहा ध्यान
3 पूर्वोत्तर में भाजपा को लग सकता है झटका, एनडीए से बाहर हो सकती है सत्ताधारी NPF
IPL 2020 LIVE
X