ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: सत्‍ता में आए तो चुनाव आयुक्‍त को जेल भेजेंगे- दलित नेता प्रकाश आंबेडकर की धमकी

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): यवतमाल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अगर वह सत्ता में आते हैं तो वह चुनाव आयोग को कम से कम दो दिन के लिए जेल भेज देंगे।

काश आंबेडकर भारतीय संविधान का प्रारूप तैयार करने वाले डॉ.भीम राव आंबेडकर के पोते हैं और वह भारिप बहुजन महासंघ के संस्थापक हैं।(फाइल फोटो)

Lok Sbaha Election 2019: लोकसभा चुनाव के करीब होने के साथ ही राजनीतिक पार्टियां के सुर तल्ख होते नजर आ रहे हैं। भारिप बहुजन महासंघ (बीबीएम) के नेता प्रकाश आंबेडकर का ताजा बयान भी कुछ ऐसा ही आया है। राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रही हैं लेकिन प्रकाश आंबेडकर पार्टियों से अलग चुनाव आयोग पर ही हमलावर हो गए। आंबेडकर के भाषण में संवैधानिक संस्था तक नहीं बचा और उन्होंने चुनाव आयोग पर हमला बोला। यवतमाल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अगर वह सत्ता में आते हैं तो वह चुनाव आयोग को कम से कम दो दिन के लिए जेल भेज देंगे। इतना ही नहीं आंबेडकर यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि पुलवामा को लेकर बात करने से वो मना करते हैं। लेकिन हम तो बात करेंगे।हमें संविधान ने हक दिया है।

चुनाव आयोग ने बयान पर मांगी रिपोर्ट:
प्रकाश आंबेडकर के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने प्रतिनिधि कार्यालय से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है। स्थानीय जिला निर्वाचन अधिकारी से इस संबंध में जल्द रिपोर्ट देने को कहा है।

लोकसभा चुनाव में प्रकाश आंबेडकर की पार्टी भी ताल ठोकती नजर आएगी। आंबेडकर का कहना है कि कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर कई सारे  प्रस्ताव आए लेकिन उसमें कई रुकावटें सामने आईं।  आंबेडकर के इस फैसले से कांग्रेस और राकांपा  के गठबंधन को झटका लगा था। उनका कहना है कि भाजपा के खिलाफ एकजुट हुए राजनीतिक दलों में शामिल होने के लिए  कांग्रेस से कोई बातचीत नहीं होगी।  बता दें कि  प्रकाश आंबेडकर भारतीय संविधान का प्रारूप तैयार करने वाले डॉ.भीम राव आंबेडकर  के पोते हैं और वह भारिप बहुजन महासंघ के संस्थापक हैं।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App