ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा के परिणाम ही तय करेंगे विधानसभा की तस्वीर

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): भाजपा विरोधी वोटों के बंटवारे को रोकने में कामयाब रहने का दावा करते हुए दीक्षित ने कहा कि हम जीतने के लिए ही चुनाव मैदान में उतरे थे और हमें जीतने का पूरा भरोसा भी है।

election 2019, general election 2019, election 2019 news, lok sabha election 2019, lok sabha election 2019 news, general election 2019 india, election news, election 2019 dates, election newsदिल्ली कांग्रेस चीफ शीला दीक्षित। (फोटोः पीटीआई)

अजय पांडेय

Lok Sabha Election 2019: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व उत्तर पूर्व लोकसभा क्षेत्र से पार्टी की प्रत्याशी शीला दीक्षित ने भरोसा जताया कि राज्य में आम आदमी पार्टी (आप) से गठबंधन नहीं होने के बावजूद कांग्रेस तीन से पांच सीटें जीतेगी। भाजपा विरोधी वोटों के बंटवारे को रोकने में कामयाब रहने का दावा करते हुए दीक्षित ने कहा कि हम जीतने के लिए ही चुनाव मैदान में उतरे थे और हमें जीतने का पूरा भरोसा भी है।

दीक्षित ने दिल्ली में कांग्रेस की जीत की संभावना को लेकर पूछने पर कहा कि देखिए, अलग-अलग लोगों की अलग राय सामने आ रही है। कोई कांग्रेस की तीन सीट जीतने की बात कर रहा है, कोई चार की बात कर रहा है और कई ऐसे भी लोग हैं जिनका आकलन है कि पार्टी पांच सीटें तक जीत सकती है। उन्होंने कहा कि तमाम लोगों के दावे और अपनी सूचना के आधार पर वह कह सकतीं हैं कि कांग्रेस कम से कम तीन और अधिकतम पांच तक सीटें जीत सकती है। यह पूछने पर कि क्या आम आदमी पार्टी से चुनावी गठबंधन नहीं होने से कांग्रेस को नुकसान नहीं हुआ, दीक्षित ने कहा कि चारों ओर से हमारे पास जो खबरें आ रही हैं उनका निष्कर्ष यही है कि दिल्ली में भाजपा विरोधी जो वोट है उसका ज्यादा बंटवारा नहीं हुआ। कांग्रेस इस बंटवारे को रोकने में कामयाब रही और इसी आधार पर उनका यह मानना है कि कांग्रेस तीन से पांच तक सीटें जीत सकती है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीक्षित ने कहा कि हम पूरे दमखम से चुनाव मैदान में उतरे और जाहिर तौर पर जीतने के लिए ही उतरे थे। उन्होंने कहा कि सूबे की सभी सातों सीटों पर कांग्रेस ने बहुत मजबूती से चुनाव लड़ा और भाजपा को टक्कर दी। उन्होंने कहा कि ऐसी जानकारी मिल रही है कि दिल्ली के लोगों ने बहुत बड़ी संख्या में घरों से निकलकर कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया है। लिहाजा हम बेहतर नतीजों की उम्मीद कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सीटों को लेकर सबका अपना-अपना नजरिया है। लोकसभा चुनाव के कुछ महीनों बाद होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव पर असर पड़ने को लेकर शीला दीक्षित ने कहा कि यह असर पड़ना तो लाजिमी है लेकिन लोकसभा के चुनाव परिणाम को तो देख लिया जाए। उन्होंने कहा कि फिलहाल, हमारा ध्यान लोकसभा की इन सात सीटों के नतीजों पर है। इसके बाद विधानसभा चुनाव के बारे में बात की जाएगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: समाजवादी मुद्दे अतीत में ओझल हो गए
2 नीतियों से नाराजगी, समाधान पर ध्यान नहीं
3 Lok Sabha Election 2019: हिरासत में लिए गए ‘मोदी पकौड़ा’ बनाने वाले छात्र, बेच रहे थे इंजीनियरिंग और एलएलबी पकौड़े
आज का राशिफल
X