ताज़ा खबर
 

‘गुरू का अपमान करना हिन्दू संस्कृति नहीं’, राहुल बोले- पीएम मोदी ने किया अपने गुरू का अपमान 

Lok Sabha Poll 2019: राहुल ने कहा, ‘‘2019 का चुनाव विचारधाराओं की लड़ाई है और कांग्रेस की विचारधारा भाईचारा, प्रेम और सौहार्द्र मोदी के नफरत, क्रोध और विभाजनकारी विचारधारा पर जीत हासिल करेगी।’’

Author Updated: April 5, 2019 9:47 PM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ।

Lok Sabha Poll 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का अपमान किया है और अपने गुरू का अपमान करना हिन्दू संस्कृति नहीं है। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए अपने ‘प्यार’ को भी जाहिर किया। पुणे में छात्रों से बातचीत करते हुए गांधी ने कहा कि वह मोदी से प्यार करते हैं लेकिन मोदी उनसे क्रोधित रहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं प्रधानमंत्री मोदी से प्यार करता हूं। वास्तव में मैं उनसे नफरत नहीं करता या मुझे उन पर क्रोध नहीं आता लेकिन वह मुझसे गुस्सा रहते हैं।’’

गांधी ने कहा कि मोदी ‘‘मैं सब कुछ जानता हूं’’ की समस्या से ग्रस्त हैं जिस कारण वह सवालों के जवाब देना पसंद नहीं करते और सार्वजनिक कार्यक्रमों में जाने से बचते हैं जहां उन्हें ‘‘असहज’’ सवालों का सामना करना पड़ सकता है। गांधी ने छात्रों से कहा कि वह सवालों से नहीं डरते। बाद में चंद्रपुर में रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा कि मोदी ने आडवाणी का अपमान किया। उन्होंने कहा कि अपने गुरु का अपमान करना भारतीय संस्कृति नहीं है। आडवाणी के प्रति किए गए व्यवहार के बाद बृहस्पतिवार को आए उनके (आडवाणी के) ब्लॉग को लेकर राहुल ने मोदी पर यह तंज कसा है।

दरअसल, आडवाणी ने अपने ब्लॉग में कहा है कि भाजपा ने अपने राजनीतिक विरोधियों को कभी राष्ट्र विरोधी नहीं माना। राहुल ने कहा, ‘‘भाजपा हिंदुत्व की बात करती है। हिंदुत्व में गुरू सर्वोच्च होता है। वह गुरू शिष्य परंपरा की बात करती है। मोदी के गुरू कौन हैं? आडवाणी हैं। मोदी ने आडवाणी को बाहर का रास्ता दिखा दिया (जूता मारके स्टेज से उतारा)।’’ कांग्रेस अध्यक्ष की यह परोक्ष टिप्पणी आडवाणी को गुजरात में गांधीनगर सीट से भाजपा द्वारा उम्मीदवार नहीं बनाए जाने पर है। वहां से खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ रहे हैं।

राहुल ने कहा, ‘‘2019 का चुनाव विचारधाराओं की लड़ाई है और कांग्रेस की विचारधारा भाईचारा, प्रेम और सौहार्द्र मोदी के नफरत, क्रोध और विभाजनकारी विचारधारा पर जीत हासिल करेगी।’’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी का घोषणापत्र भारत के लोगों की सोच की अभिव्यक्ति है और उन्होंने गरीबों के लिए ‘न्याय’ या न्यूनतम आय योजना से मध्यम वर्ग पर बोझ पड़ने की बात को खारिज कर दिया। गांधी ने कहा कि अगर उनकी कांग्रेस पार्टी सत्ता में आयी तो गरीब परिवारों को न्यूनतम आय के तौर पर हर साल 72,000 रुपये देगी जिससे करीब 25 करोड़ लोगों को फायदा होगा। इस कदम को उन्होंने गरीबी पर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ बताया है।

उन्होंने कहा, ‘‘सभी पक्षकारों से विचार विमर्श के बाद घोषणापत्र तैयार किया गया है। न्याय योजना को लागू करने के लिए मध्यम वर्ग पर आयकर नहीं लगाया जाएगा और आयकर को नहीं बढ़ाया जाएगा। अगर उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो इस योजना में हर साल गरीब लोगों के बैंक खातों में 72,000 रुपये जमा कराए जाएंगे।’’ न्यूनतम आय गारंटी योजना से राजकोष में 3.26 लाख करोड़ रुपये का खर्च बढ़ने का अनुमान है। इस योजना की आलोचना कर रही भाजपा ने पूछा है कि इसके लिए पैसा कैसे आएगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि न्याय योजना को लागू करने का बोझ मध्यम वर्ग नहीं उठायेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राहुल गांधी का पीएम पर निशाना- ‘मैं मोदी जी से प्यार करता हूं, पर वो ऐसा नहीं करते’
2 Lok Sabha Election 2019: उमर अब्दुल्ला बोले- ट्रैक्‍टर में ठंडी हवा का इंतजाम करवा कर बैठी थीं हेमा मालिनी
3 कांग्रेस नेता अहमद पटेल बोले- गटर लेवल पॉलिटिक्स करते हैं नरेंद्र मोदी, चोरों को सब नजर आते हैं चोर