ताज़ा खबर
 

साक्षी महाराज ने लिया यू-टर्न, जाति के नाम पर टिकट मांग बीजेपी अध्‍यक्ष को दी थी धमकी

सांसद ने अपने पत्र में यह भी लिखा है, "यह उल्लेख करना भी आवश्यक है कि मेरे जनपद में आने से पहले भाजपा का कोई भी प्रतिनिधित्व एक दशक से जनपद में नहीं था। आज छ: के छ: विधायक और एक एमएलसी भाजपा का है।

BJP, LOK SABHA CHUNAV, SAKSHI MAHARAJLok Sabha Election 2019: बीजेपी सांसद साक्षी महाराज। (एक्सप्रेस फोटो)

उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भाजपा के सांसद साक्षी महाराज ने अपनी ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर न सिर्फ जातीय आधार पर अधिक संख्या का हवाला देते हुए 2019 का लोकसभा टिकट देने की मांग की है बल्कि टिकट नहीं देने पर बुरा अंजाम भुगतने की चेतावनी भी दी है। साक्षी महाराज ने भाजपा के यूपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय को पत्र में लिखा है, “महोदय, जनपद में मुझे छोड़कर ओबीसी का कोई प्रतिनिधित्व नहीं है। वैसे भी पार्टी पर ओबीसी की उपेक्षा का आरोप यदा-कदा लगता रहता है।” भाजपा सांसद ने लोकसभा क्षेत्र में जातीय समीकरण और उसकी संख्या भी लिखा है। बतौर सांसद उन्नाव में कुल ओबीसी वोटरों की संख्या करीब 10 लाख है। उन्होंने लिखा है, “इस लोकसभा सीट पर मैंने 2014 में तीन लाख 15 हजार वोटों से जीत दर्ज की थी। लोकसभा में कांग्रेस और बसपा की जमानत जब्त हो गई थी। सपा दूसरे नंबर पर रही थी। यह सीट सपा-बसपा गठबंधन में 2019 निर्वाचन में सपा के खाते में गई है। सपा की ओर से कद्दावर नेता अरुण कुमार शुक्ला या अन्य किसी ब्राह्मण के लड़ने की पूरी संभावना है।”

सांसद ने अपने पत्र में यह भी लिखा है, “यह उल्लेख करना भी आवश्यक है कि मेरे जनपद में आने से पहले भाजपा का कोई भी प्रतिनिधित्व एक दशक से जनपद में नहीं था। आज छ: के छ: विधायक और एक एमएलसी भाजपा का है। यदि उन्नाव से मेरे संबंध में पार्टी कोई अन्य निर्णय लेती है तो इससे मेरे प्रदेश और देश के करोड़ों कार्यकर्ताओं के आहत होने की पूरी संभावना है, जिसका परिणाम भी सुखद नहीं रहेगा।” साक्षी महाराज ने यह भी लिखा है कि पिछले पांच साल में उन्होंने संसदीय क्षेत्र में दिन-रात मेहनत करके और करोड़ों रुपये लगाकर पार्टी की स्थिति मजबूत की है।

जब मीडिया में सांसद द्वारा पत्र लिखकर पार्टी अध्यक्ष को धमकी देने की खबरें आईं तो उन्होंने इसका खंडन करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी पार्टी नेताओं को धमकी नहीं दी। उन्होंने कहा, “वो भाजपा में थे और हैं। इसमें कोई किंतु-परंतु नहीं है कि मुझे उन्नाव से दोबारा टिकट मिलने जा रहा है। अगर किसी कारण वश टिकट नहीं मिलता है तो पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करेंगे।”

साक्षी महाराज द्वारा लिखी गई चिट्ठी:

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: मायावती का मोदी सरकार पर वार, कहा- कम्बल ओढ़ कर घी पीने में माहिर बीजेपी
2 राहुल गांधी बोलना चाहते थे नीरव, मुंह से निकल गया नरेंद्र मोदी
3 Lok Sabha Election 2019: अमित शाह ने बताया बीजेपी की जीत का गणित- 11 करोड़ कार्यकर्ता, 22 करोड़ परिवारों का आशीर्वाद, सरकार के लिए चाहिए केवल 17 करोड़ वोट
ये पढ़ा क्या?
X