ताज़ा खबर
 

गठबंधन के लिए जोर लगा रहे थे केजरीवाल, सिसोदिया की राय- गंदे पानी की तरह है कांग्रेस, आग बुझाने के लिए जरूरी

Lok Sabha Elections 2019: कांग्रेस को 'गंदा पानी' बताते हुए सिसोदिया ने कहा, 'जब आपके घर में आग लगी हो तब आप आग की लपटों को कम करने के लिए साफ पानी की तलाश नहीं करते हैं।

Author May 15, 2019 5:32 PM
आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया। (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

Lok Sabha Elections 2019: आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने मंगलवार (14 मई, 2019) को कहा कि उनकी पार्टी भगवा पार्टी को सत्ता से बाहर रखने के लिए केंद्र में ‘गैर-भाजपा’ के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार है। कांग्रेस को ‘गंदा पानी’ बताते हुए उन्होंने कहा, ‘जब आपके घर में आग लगी हो तब आप आग की लपटों को कम करने के लिए साफ पानी की तलाश नहीं करते हैं।’

चंडीगढ़ से भाजपा सांसद किरण खेर पर बात करते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदर्शन के मोर्चे पर उनके पास दिखाने के लिए कुछ नहीं है। उन्होंने कहा, ‘पिछले आम चुनावों में चंडीगढ़ की जनता ने उन्हें चुना, मगर मैडम विज्ञापन और फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त रहीं।’ आप ने चंडीगढ़ से पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन को चुनावी मैदान में उतारा है। शहर में लोकसभा चुनाव के अंमित चरण यानी 19 मई को मतदान होने हैं। धवन करीब छह महीना पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे।

सिसोदिया ने भाजपा को ‘विभाजनकारी’ राजनीति करने वाली पार्टी व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भगवा पार्टी के प्रमुख अमित शाह को देश के लिए ‘सबसे बड़ा खतरा’ करार दिया। उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी और अमित इस देश के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं। दोनों समाज में विभाजन को बढ़ावा देते हैं और लोगों को आपस में बांटकर सत्ता पर कब्जा करना चाहते हैं।

सिसोदिया ने एक सवाल के जवाब में पत्रकारों से कहा, ‘हमें डर है कि अगर मोदी और शाह दोबारा सत्ता में आए तो देश में दंगे बढ़ जाएंगे। देश में अफगानिस्तान और सीरिया जैसी स्थिति हो जाएगी।’ पूछने पर कि 23 मई को लोकसभा परिणामों की घोषणा के बाद AAP केंद्र में सरकार बनाने में क्या भूमिका निभा सकती है। उन्होंने कहा कि मोदी और शाह को सत्ता से बाहर रखने के लिए हम केंद्र में गैर-भाजपा, गैर-मोदी सरकार के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार हैं।

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि मोदी पूरे देश में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। आइए देखते हैं कि उन्हें कितनी सीटें मिलती हैं। भाजपा मोदी के नाम पर चुनाव लड़ रही है। सत्तापक्ष मुद्दों पर बात नहीं कर रहा है। सिसोदिया के मुताबिक उनकी पार्टी काम और उसके प्रदर्शन के आधार पर चुनाव लड़ रही है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App