ताज़ा खबर
 

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस में शामिल होकर फंसे कीर्ति आजाद, 10 बार मुलाकात के बाद भी दरभंगा सीट छोड़ने को तैयार नहीं लालू

इंडियन एक्सप्रेस के इनसाइड ट्रैक में छपे कूमी कपूर के एक कॉलम के मुताबिक कीर्ति आजाद मानकर चल रहे हैं कि वो परिवारिक सीट दरभंगा से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। मगर अब वो बुरे फंसते हुए नजर आ रहे हैं।

दरभंगा से सांसद कीर्ति फोटो सोर्सः कीर्ति आजाद

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और वर्तमान में भाजपा के पर टिकट दरभंगा से सांसद कीर्ति आजाद को साल 2015 में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ टिप्पणी करने पर पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। जेटली उस वक्त दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ के प्रमुख थे। हालांकि आजाद ने पार्टी से अभी तक अपना इस्तीफा नहीं दिया है। अब लोकसभा चुनाव नजदीक हैं और पिछले महीने पूर्व खिलाड़ी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गए। उनके लिए यह घर वापसी की तरह था क्योंकि पिता भागवत झा आजाद कांग्रेस नेता थे और कांग्रेस पार्टी से बिहार के मुख्यमंत्री चुने गए। वो केंद्रीय मंत्री रहे।

इंडियन एक्सप्रेस के इनसाइड ट्रैक में छपे कूमी कपूर के एक कॉलम के मुताबिक कीर्ति आजाद मानकर चल रहे हैं कि वो परिवारिक सीट दरभंगा से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। मगर अब वो बुरे फंसते हुए नजर आ रहे हैं, क्योंकि पता चला है कि कांग्रेस की सहयोगी पार्टी आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव ने कहा कि दरभंगा सीट उनके पास आए। आजाद जेल में बंद लालू यादव से मिलने के लिए करीब दस यात्राएं की मगर वो उनका मन बदलने में कामयाब नहीं हो पाए। पूर्व क्रिकेटर बिहार की किसी अन्य संसदीय सीट से चुनाव लड़ने को तैयार नहीं हैं।

बता दें कि कीर्ति आजाद ने 18 फरवरी को कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। उन्होंने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। ट्विटर पर उन्होंने लिखा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्हें मिथिला की परंपरा में मखाने की माला पहनाकर, पाग, चादर से सम्मानित कर पार्टी में शामिल किया। पार्टी में शामिल होने से पहले कीर्ति आजाद ने 15 फरवरी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी। हालांकि उन्होंने पहले ही कांग्रेस में शामिल होने के संकेत दे दिए थे लेकिन पुलवामा आतंकी हमले की वजह से कार्यक्रम में टाल दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App