ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Elections 2019: पूर्व नेवी चीफ के बयान के बाद लोग पीएम को कह रहे झूठ का सौदागर, कांग्रेस बोली- आपने एयरफोर्स विमान को टैक्सी बनाया

Lok Sabha Elections 2019: पीएम मोदी द्वारा राजीव गांधी पर लगाए आरोपों का पूर्व नौसेना प्रमुख द्वारा खंडन करने के बाद मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर हैं। ट्विटर पर 'सबसे बड़ा झूठा मोदी' ट्रेंड कर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

Lok Sabha Elections 2019: दिल्ली के रामलीला मैदान में बुधवार (8 मई, 2019) को एक रैली को संबधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर गंभीर आरोप लगाए। पीएम ने कहा कि राजीव ने पीएम रहते आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक द्वीप पर परिवार के साथ छुट्टी माने के लिए किया। राजीव के परिवार के अलावा इटली से उनके रिश्तेदार भी छुट्टी मनाने के लिए आए थे। उन्होंने कहा कि राजीव काल में आईएनएस का इस्तेमाल किसी टैक्सी की तरह किया गया। हालांकि पूर्व एडमिरल एल रामदास ने मोदी के दावे का खंडन करते हुए इसे महज जुमला करार दिया है। पूर्व नौसेना प्रमुख ने मोदी के बयान को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि राजीव गांधी आईएनएस विराट पर सरकारी काम से गए थे। वह आईएनएस विराट पर राष्ट्रीय खेल पुरस्कार वितरण में गए थे। रामदास ने आगे कहा कि आरोप एकदम झूठा है। प्रधानमंत्री का वह सरकारी दौरा था। हम इस तरह के आरोप से व्यथित हैं। सेना किसी के निजी इस्तेमाल के लिए नहीं है।

अब मोदी के दावे के उलट कांग्रेस ने पीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘वो मोदी हैं जो ‘अपनी टैक्सी’ के रूप में वायु सेना के जेट विमानों का इस्तेमाल करते हैं। मोदी इलेक्शन के दौरान चुनावी यात्रा करने के लिए इसके बदले में महज 744 रुपए का भुगतान करते हैं। दरअसल गुरुवार (9 मई, 2019) को एक संवादाता सम्मेलन में मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘आपने (मोदी) भारतीय वायुसेना के विमानों को अपनी टैक्सी बना लिया है। आपने चुनावी यात्राओं के लिए भारतीय वायुसेना के जेट विमानों का इस्तेमाल करने के लिए 744 रुपए का भुगतान किया।’

बता दें कि एक आरटीआई के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में बताया गया, ‘भाजपा ने मोदी का प्रधानमंत्री कार्यकाल शुरू होने से जनवरी 2019 तक उनके द्वारा की गईं 240 गैर आधिकारिक घरेलू यात्राओं के लिए इंडियन एयरफोर्स को 1.4 करोड़ रुपए का भुगतान किया।’ रिपोर्ट में बताया गया कि कुछ मामलों में भुगतान की गई राशि काफी कम लग रही थी। उदाहरण के रूप में भाजपा ने 15 जनवरी, 2019 को पीएम मोदी द्वारा की गई यात्रा के लिए 744 रुपए का भुगतान किया।

गौरतलब है कि पीएम मोदी द्वारा राजीव गांधी पर लगाए आरोपों का पूर्व नौसेना प्रमुख द्वारा खंडन करने के बाद मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर हैं। ट्विटर पर ‘सबसे बड़ा झूठा मोदी’ ट्रेंड कर रहा है। कई यूजर्स ने नरेंद्र मोदी को झूठ का सौदागर करार दिया है। आरकेओ नाम से ट्वीट कर लिखा गया, ‘चौकीदार झूठा है।’ आरफा नाम से ट्वीट में लिखा गया चुनाव आयोग द्वारा एक और क्लीन चिट। अरशद आमिर ट्वीट कर लिखते हैं, ‘झूठ बोलने वाले की देश की जनता को जानकारी है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X