ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट में दावा: चार राज्यों की कई सीटों पर मतदान से ज्यादा गिनती किए गए वोट! पटना साहिब और बेगुसराय भी शामिल

Loksabha Election Results 2019: मामले पर तीन पूर्व ईसी के आयुक्तों से संपर्क किया गया तो उनकी ओर से हैरानी जताई गई। वह बोले कि ईसी इस मसले पर सफाई दे या फिर वोटों के आंकड़ों में गड़बड़ी मुद्दे का समाधान करे।

Author नई दिल्ली | May 28, 2019 2:26 PM
Lok Sabha Election Results 2019: मतदान केंद्र पर वोट गिनने के लिए ईवीएम खोलता स्टाफ। (फाइल फोटोः रॉयटर्स)

Loksabha Election Results 2019: लोकसभा चुनाव निपटने के बाद मतदान प्रक्रिया को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। दावा है कि देश के करीब चार राज्यों की कई सीटों पर कुल वोटिंग से ज्यादा वोट गिने गए। इन सीटों में तीन हाई प्रोफाइल सीटें भी शामिल हैं, जिनमें बिहार की पटना साहिब, जहानाबाद और बेगूसराय संसदीय सीट है। दरअसल, हाल ही में ‘न्यूज क्लिक’ ने वोटों की गिनती से जुड़ी जांच-पड़ताल की थी, जिसमें पता लगा कि बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और मध्य प्रदेश में कुछ सीटों पर कुल मतदान से अधिक संख्या में हजारों वोट गिने गए।

न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट में आगे कहा गया कि जिन संसदीय सीटों में वोटों की गिनती की जांच हुई उनमें से आठ में कम से कम एक पर इस प्रकार की गड़बड़ी हारने वाले प्रत्याशी के वोटों के अंतर से भी कहीं है। बता दें कि यह बात ऐसे समय पर सामने आई है, जब चुनावी माहौल और नतीजों वाले दिन से लेकर बाद तक इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की भूमिका पर लगातार सवालिया निशान लगाए जा रहे थे। विपक्ष ने बिहार, यूपी, हरियाणा समेत कई और राज्यों में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ होने का आरोप लगाया था।

कुछ राज्यों की और चुनाव आयोग (ईसी) की वेबसाइटों और ईसी के वोटर टर्नआउट ऐप से जुटाए गए आंकड़े के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया कि 20 लाख 51 हजार 905 मतदाता वाले पटना साहिब क्षेत्र में 46.34 फीसदी मतदान हुआ। वहां नौ लाख 50 हजार 852 वोट डाले जाने थे, पर गिनती में नौ लाख 82 हजार 285 वोट रहे। यानी इस सीट पर 31 हजार 433 वोटों का फर्क था। बीजेपी उम्मीदवार यहां 2.84 लाख वोटों से जीते हैं।

वहीं, कुल 19 लाख 54 हजार 484 वोटर्स वाली बेगूसराय सीट पर 61.27 प्रतिशत वोटिंग हुई। वहां 11 लाख 97 हजार 512 मत पड़ने थे, पर वोटों की गिनती में आंकड़ा 12 लाख 25 हजार 594 था। यानी असल वोटिंग और गिने गए वोटों के बीच 28 हजार 82 वोटों का फर्क था। इस सीट से भी बीजेपी उम्मीदवार लगभग चार लाख मतों के अंतर से जीते हैं। पड़ताल में इसके अलावा पूर्वी दिल्ली, मध्य प्रदेश की गुना व मुरैना, यूपी की बदायूं और फर्रूखाबाद संसदीय सीट पर इसी प्रकार से असल में डलने वाले वोटों और उनकी गिनती के बीच फर्क पाया गया।

मामले पर तीन पूर्व ईसी के आयुक्तों से संपर्क किया गया तो उनकी ओर से हैरानी जताई गई। वह बोले कि ईसी इस मसले पर सफाई दे या फिर वोटों के आंकड़ों में गड़बड़ी मुद्दे का समाधान करे। इससे पहले, पटनासाहिब से हारने वाले कांग्रेसी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने शक जताया था कि इस सीट पर ‘कोई बड़ा खेल तो जरूर हुआ है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App