ताज़ा खबर
 

West Bengal: जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा था पति, वोट डालने गई थी पत्नी, जानें पूरा मामला

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): पश्चिम बंगाल में एक महिला गंभीर हालत में अपने पति को छोड़कर वोट डालने गई। वहीं वोट डालने के बाद महिला को पता चला कि उसके पति की मौत हो चुकी है।

electionप्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Lok Sabha Election 2019: 12 मई को  लोकसभा चुनाव के छटवें चरण के मतदान के तहत 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान किया गया। इन सीटो में पश्चिम बंगाल की सीटें भी शामिल रहीं। ऐसे में गोपीबल्लभपुर की एक महिला बसंती अपने पति को छोड़कर भी वोट देने गई। लेकिन जब महिला वोट देकर वापस आई तो उसे पता चला की उसके पति की मौत हो चुकी है। बता दें कि उसके पति का हालत गंभीर थी और वो अस्पताल में भर्ती था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला का पति रमेन बीजेपी का बूथ अध्यक्ष था।

पति पार्टी के काम के लिए गया तो फिर वापस नहीं आयाः रमेन के भाई हिरेन के अनुसार रमेन कुछ दिन पहले देर रात पूलिंग बूथ के पास पार्टी का टेंट लगाने के लिए गया था। बताया जा रहा है कि मौके पर कुछ अंजान लोगों ने धारदार हथियार से हमला कर उसे घायल कर दिया था। इसके बाद उसे हॉस्पिटल ले जाया गया जहां बाद में उसकी मौत हो गई थी। वहीं रमेन पत्नी बसंती को यह कहकर बाहर गया था कि वह पार्टी के काम के लिए बाहर जा रहा है। बाद में उसकी पत्नी को पता चला कि उस पर हमला हुआ है और वह गम्भीर रूप से घायल भी है। जिसके बाद भी बसंती अपनी सास निर्मला को लेकर जयसोल के पेड़बिरडी में वोट डालने के लिए गई थी। वोट डालकर आने के बाद हिरेन के जरिए बसंती को पता चला कि रमेन की मौत हो गई है। मौत की खबर सुनने के बाद घर में मातम छा गया।

National Hindi News, 13 May 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

पश्चिम बंगाल के लोकसभा सीटों की जानकारी के लिए क्लिक करें 

बीजेपी के लिए काम करने की सजा मिलीः रमेन के भाई ने कहा कि उसका भाई पार्टी का एक अच्छा कार्यकर्ता था। पार्टी के नेता उसकी बात सुनते और मानते भी थे। रमेन का यह मानना था कि इलाके का पूरा वोट बीजेपी को जाना चाहिए इसके लिए वह कड़ी मेहनत भी करता था। पेशे से किसान रहे हिरेन की मौत के बाद उसका पूरा परिवार बिखर गया है। बता दें कि हिरेन ने अपने परिवार को कट्टर बीजेपी समर्थक बताया है। घटना पर बीजेपी के झाड़ग्राम अध्यक्ष सुखमोय सतपति ने कहा, ‘तृणमूल को पता है कि उनकी जमीन तेजी से खिसक रही है। रमेन एक अच्छे बूथ-स्तर के आयोजक थे। इसलिए कोल्ड ब्लड में उसकी हत्या कर दी गई।’ वहीं इस मामले में तृणमूल के झारग्राम के संयोजक सुकुमार हांसदा ने सभी आरोपो को गलत ठहराया और कहा, ‘मौत बीजेपी के कारण हुई है। TMC वहां एक पुलिंग एजेंट को नियुक्त करने में भी विफल रहा था। हम ऐसा दिन में ही कर पाए थे।’

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 Loksabha Elections 2019: 1987-88 में मैंने प्रयोग किया था डिजिटल कैमरा- अब नरेंद्र मोदी के इस बयान पर कांग्रेस आईटी हेड ने लिए मजे
2 Election 2019: चुनाव के दौरान यूपी में 200 करोड़ रुपए की नकदी, ड्रग्‍स, सोना-चांदी बरामद
3 Lok Sabha Election 2019: भाजपा में मोदी को कौन डांट सकता है? पीएम ने खुद किया खुलासा
यह पढ़ा क्या?
X