ताज़ा खबर
 
title-bar

गुरुदासपुर से सनी देओल को टिकट मिलने से विनोद खन्ना की पत्नी नाराज, कहा- मैं छला हुआ महसूस कर रही

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): दिवंगत विनोद खन्ना की पत्नी कविता ने गुरदासपुर सीट से सनी देओल को लोकसभा टिकट दिए जाने पर कहा कि वह छला हुआ महसूस कर रही हैं।

Author April 24, 2019 7:06 PM
दिवंगत विनोद खन्ना की पत्नी कविता फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

 Lok Sabha Election 2019: चार बार के सांसद एवं प्रसिद्ध अभिनेता दिवंगत विनोद खन्ना की पत्नी और भाजपा से टिकट पाने की प्रतीक्षा कर रहीं कविता खन्ना ने कहा है कि वह अभिनेता सनी देओल को गुरदासपुर लोकसभा सीट से टिकट मिलने से ‘छला’ हुआ महसूस कर रही हैं और निर्दलीय चुनाव लड़ने सहित दूसरे विकल्पों पर विचार कर रहीं हैं। बता दें भाजपा ने मंगलवार (23 अप्रैल) शाम गुरदासपुर से देओल को पार्टी प्रत्याशी बनाने की घोषणा की थी। इस निर्णय से कविता की आशाओं पर पानी फिर गया क्योंकि वह खुद यहां से पार्टी का टिकट पाना चाहती थीं।

छला हुआ महसूस कर रही हूंः कविता ने बुधवार (24 अप्रैल) को पीटीआई-भाषा से कहा,’मैं छला हुआ महसूस कर रही हूं। मैं यह भी महसूस करती हूं कि जो लोग मुझे सांसद बनते देखना चाहते थे, उनकी उम्मीदों को अनदेखा किया गया है।’ जब उनसे पूछा गया कि क्या वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर गुरदासपुर संसदीय सीट पर उतरेंगी, तो उन्होंने कहा, ‘मैं सारे विकल्पों पर विचार कर रही हूं। मैंने अभी तक कोई फैसला नहीं किया है। मैंने किसी मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं किया है।’ उन्होंने बताया कि दिवंगत विनोद खन्ना के साथ उन्होंने गुरदासपुर के लोगों की 20 साल सेवा की है।

National Hindi News, 24 April 2019 LIVE Updates: जानें दिन-भर के अपडेट्स

भगवान पर भरोसाः कविता ने कहा, ‘मुझे भगवान पर पूरा भरोसा है। जीवन एक यात्रा है। मैंने यहां 20 वर्ष काम किया है। जब विनोद जी अस्वस्थ थे, तो मैं लोगों से मिलती थी। लोग मुझे सांसद बनते देखना चाहते हैं।’ टिकट पाने की आशा से ही कविता गुरदासपुर के लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं से पिछले कई सप्ताहों से बैठक कर रही थीं।

 

बता दें विनोद खन्ना के निधन के बाद अप्रैल 2017 में यहां हुए उपचुनाव में कांग्रेस के सुनील जाखड़ ने विजय प्राप्त की थी। तब जाखड़ ने भाजपा के स्वर्ण सालारिया को 1,93,219 वोटों के अंतर से पराजित किया था। उस समय भी कविता टिकट पाने के लिए कोशिश कर रही थीं लेकिन तब भी उनका पत्ता कट गया था। विनोद खन्ना ने यहां से 1998, 1999, 2004 और 2014 में जीत हासिल की थी। उन्हें यहां लोग प्यार से ‘पुलों का सरदार’ कहते हैं। उन्होंने दूरदराज के कई गांवों को आपस में जोड़ने का अनोखा कार्य किया था।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App