ताज़ा खबर
 

पहले शिवपाल यादव ने CM योगी को बताया ईमानदार, फिर बोले- लेकिन UP में बढ़ा भ्रष्टाचार

Lok Sabha Election 2019: प्रगति समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को ईमानदार कहा है। साथ ही उन्होंने डिंपल यादव के खिलाफ अपना प्रत्याशी नहीं उतारने पर भी बयान दिया है।

Lok Sabha Election 2019, SHIVPAL SINGH YADAV, SP, BJP, YOGILok Sabha Election 2019: शिवपाल सिंह यादव फोटो सोर्स- एएनआई

लोकसभा चुनाव के दौरान प्रगति समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि सीएम योगी ईमानदार हैं ये बात मैं मानता हूं, लेकिन ब्यूरोक्रेट पर उनका कंट्रोल नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग तनाव में है। शिवपाल ने डिंपल यादव के खिलाफ अपना प्रत्याशी नहीं उतारने पर भी बयान दिया है। बता दें कि शिवपाल यादव ने पिछले साल ही सपा से अलग होकर अपनी नई पार्टी बनाई है।

बहू डिंपल यादव पर दिया ये बयान: शनिवार को न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि हमने डिंपल यादव और नेता जी खिलाफ चुनाव में अपना प्रत्याशी नहीं उतारने का निर्णय लिया है क्योंकि मैं आज जो कुछ भी हो उनकी (मुलायम सिंह यादव) वजह से ही हूं। रही बात डिंपल की तो मुझे पार्टी के सीनियर नेताओं ने सलाह दी कि ये पारिवारिक मामला है और वो हमारी बहू भी हैं इसलिए उनके खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने का निर्णय लिया गया।

National Hindi News, 14 April 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

योगी को बताया ईमानदार: बता दें कि शिवपाल ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी को ईमानदार बताते हुए कहा, “योगी जी ईमानदार हैं, हम इस बात को मानते हैं। लेकिन उनका ब्यूरोक्रेट पर कंट्रोल नहीं है। प्रदेश में भ्रष्टाचार बढ़ा है और लोगों में तनाव भी बढ़ा है।”

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पहले चरण के तहत नौ सीटों के लिए मतदान हो चुका है। प्रदेश में 80 लोकसभा सीटों के लिए घमासान जारी है। इसके लिए सपा-बसपा और आरएलडी ने गठजोड़ किया है। इस बीच शिवपाल की पार्टी भी चुनाव में उतर सभी पार्टियों को टक्कर देने की बात कह रही है। बता दें कि एक दिन पहले ही योगी आदित्यनाथ के अली और बजरंग बली के बयान पर शिवपाल ने कहा था कि चुनाव में अली व बजरंग बली पर बातें करने के बजाए जनता की समस्याएं सुनी जानी चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस घोषणापत्र की तारीफ करने वाले पत्रकार ने लिखा था आडवाणी का ताजा ब्लॉग?
2 कांग्रेस की नई लिस्ट से बढ़ सकती है बीजेपी की मुश्किल, अनुप्रिया पटेल की मां और फूलन देवी के पति का नाम
3 Lok Sabha Election 2019: उद्धव ठाकरे का बयान- राहुल, हिंदुस्तान नामर्दों का देश नहीं