ताज़ा खबर
 

साध्वी प्रज्ञा ने शहीद करकरे को ‘देशद्रोही’ कहा, कांग्रेस बोली- पीएम मोदी मांगें माफी, भाजपा ने मामले से पल्ला झाड़ा

Lok Sabha Election 2019: प्रज्ञा ने कहा है कि उन्होंने महाराष्ट्र में एटीएस प्रमुख रहे करकरे से कहा था कि ‘तुम्हारा सर्वनाश होगा।’

Author Updated: April 19, 2019 6:08 PM
भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस।)

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस ने भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की ओर से मुंबई हमले में शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के संदर्भ में कई गई विवादित टिप्पणी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से माफी की मांग करते हुए कहा कि वह प्रज्ञा के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करें। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह आरोप भी लगाया कि प्रज्ञा के ‘अक्षम्य बयान’ से ‘अजमल कसाब के मित्र भाजपा’ का ‘देशद्रोही चेहरा’ सामने आ गया है। सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ”आखिरकार यह साबित हो ही गया कि पाकिस्तानी आतंकी अजमल कसाब के दोस्त भाजपाई निकले। भाजपा ने शहीद हेमंत करकरे को देशद्रोही घोषित करने का नाकाबिले माफी जुर्म किया है।”

उन्होंने कहा, “जिन्होंने आतंकवादियों से लड़ते-लड़ते अपने जीवन की कुर्बानी दी डाली और आज उन्हें ही प्रज्ञा ठाकुर ने देशद्रोही घोषित कर डाला। भाजपा की ओर से इस शहीद का तिरस्कार करने की हद तब हो गई जब करकरे के पूरे वंश के नाश की बात की गई।” उन्होंने सवाल किया, “क्या भाजपा अशोक चक्र विजेता करकरे के पूरे परिवार का सफाया करना चाहती है?” सुरजेवाला ने कहा, “पिछले 70 वर्षों में देश पर सबकुछ न्योछावर करने वालों को अपमानित करने का ऐसा दुस्साहस किसी दूसरी पार्टी नहीं किया।”

उन्होंने कहा, “हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री माफी मांगें और प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करें।” दरअसल, प्रज्ञा ने कहा है कि उन्होंने महाराष्ट्र में एटीएस प्रमुख रहे करकरे से कहा था कि ‘तुम्हारा सर्वनाश होगा।’ प्रज्ञा मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं। इस मामले की जांच करकरे के नेतृत्व में हुई थी। गौरतलब है कि 26 नवंबर 2008 को पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने मुंबई के कई स्थानों पर हमले किए थे। उसी दौरान करकरे और मुंबई पुलिस के कुछ अन्य अधिकारी शहीद हुए थे।

इस बीच भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा के बयान से किनारा कर लिया है और एक लिखित बयान जारी कर कहा है कि हमारा स्पष्ट मानना है कि हेमंत करकरे आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए थे। पार्टी ने लिखा है, “जहां तक साध्वी प्रज्ञा के इस संदर्भ में बयान का विषय है, वह उनका निजी बयान है जो वर्षों तक उन्हें शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना के कारण दिया गया होगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: आजम खान के इर्द-गिर्द हुई रामपुर की सियासत, जया प्रदा को भरोसा- ‘जनता सिखाएगी सबक’
2 Lok Sabha Election 2019: चुनाव प्रचार करने गए भाजपा सांसद और विधायक को ग्रामीणों ने खदेड़ा, विकास ना होने से थे नाराज
3 West Bengal: हुगली से बीजेपी प्रत्याशी के घर में तोड़फोड़, कहा- BJP से डरे हुए हैं टीएमसी के गुंडे
ये पढ़ा क्या?
X