ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019 : पानी के बिल के साथ चिट्ठियां भेज रहे थे केजरीवाल, EC ने सील किया DJB ऑफिस का कमरा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आगामी लोकसभा चुनाव में लुभाने के लिए पानी के बिल के साथ चिट्ठियां भेज रहे थे। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कार्रवाई की और दिल्ली जल बोर्ड (DJB) के उस कमरे को बंद कर दिया, जिसमें केजरीवाल की चिट्ठियां रखी थीं।

Arvind Kejriwal, New Delhiदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आगामी लोकसभा चुनाव में लुभाने के लिए पानी के बिल के साथ चिट्ठियां भेज रहे थे। इसमें वे अपनी उपलब्धियों की जानकारी देते हुए आगामी चुनाव में जनता का आशीर्वाद व शुभकामनाएं मांग रहे थे। मामले की जानकारी मिलते ही मुख्य चुनाव आयुक्त ने कार्रवाई की और दिल्ली जल बोर्ड (DJB) कार्यालय के उस कमरे को बंद कर दिया, जिसमें केजरीवाल की चिट्ठियां रखी थीं।

दिल्ली के मुख्य चुनाव आयुक्त रणबीर सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘‘बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार (25 मार्च) को मुझसे मुलाकात की थी। उन्होंने इस बारे में शिकायत की थी। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि करीब 26 लाख चिट्ठियां पानी के बिल के साथ बांटी जा चुकी हैं। इन चिट्ठियों पर तारीख भी नहीं है।’’

National Hindi News Today LIVE: जानें दिनभर के अपडेट्स

रणबीर सिंह ने बताया, ‘‘दिल्ली सरकार में जल मंत्रालय की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद संभालते हैं। वे दिल्ली जल बोर्ड के चेयरमैन भी हैं। बीजेपी ने शिकायत दी कि मुख्यमंत्री पानी के कनेक्शनधारकों को उनके नाम से चिट्ठियां भेज रहे हैं। बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने शिकायत के साथ उन चिट्ठियों की कॉपी भी दी। साथ ही, बताया कि दिल्ली जल बोर्ड के अशोक विहार और नरेला स्थित कार्यालयों में इन चिट्ठियों का अंबार लगा हुआ है।’’ बता दें कि इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व दिल्ली विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजेंदर गुप्ता ने किया था।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

मुख्य चुनाव आयुक्त के मुताबिक, शिकायत मिलने के बाद उन्होंने डीजेबी के सीईओ से बात की। साथ ही, उन्हें बताया, ‘‘यह डीजेबी के सीईओ की जिम्मेदारी है कि कोई भी शख्स राजनीतिक उद्देश्यों के लिए सरकारी मशीनरी का इस्तेमाल न कर सके। अगर किसी विभाग में ऐसा हो रहा है तो उस विभाग का प्रमुख जिम्मेदार माना जाएगा।’’ मुख्य चुनाव आयुक्त ने सीईओ को निर्देश दिए कि वे अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को भी इसकी जानकारी दें। साथ ही, वे सुनिश्चित करें कि इस तरह के पत्र किसी भी कीमत पर बांटे न जाएं। वहीं, लोकसभा चुनाव खत्म होने तक इन चिट्ठियों को बांटने पर वे रोक लगाएं।

रणबीर सिंह के मुताबिक, निर्वाचन आयोग के फ्लाइंग स्क्वॉयड को भी आचार संहिता का उल्लंघन होने की जानकारी मिली थी। साथ ही, उन्हें पता चला था कि डीजेबी के नरेला स्थित ऑफिस में ऐसी चिट्ठियां रखी हुई हैं। उन्होंने नरेला कार्यालय की जांच की तो एक कमरे में चिट्ठियों का अंबार लगा मिला। ऐसे में उन्होंने उस कमरे को सील कर दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 1952 से ही कानपुर में स्थानीय उम्मीदवारों का दबदबा, 2004 के बाद श्रीप्रकाश जायसवाल और सत्यदेव पचौरी फिर आमने-सामने
2 नाराज गिरिराज को अमित शाह का मैसेज- मैंने सारी बातें सुनी, समाधान होगा, आप बेगूसराय से ही चुनाव लड़ेंगे
3 Lok Sabha Election 2019: भगवान जगन्‍नाथ की मूर्ति लेकर प्रचार कर फंसे संबित पात्रा, चुनाव आयोग में शिकायत
ये पढ़ा क्या?
X