ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: बंगाल में चुनाव के दौरान हिंसा, बदसलूकी होने पर रो पड़ा चुनाव अधिकारी!

एक न्यूज चैनल के मुताबिक कोलकाता के दमदम पोलिंग बूथ पर तैनात पीठासीन अधिकारी से टीएमसी के पार्षद ने बदसलूकी की। जिसके बाद वह फूट-फूटकर रोने लगे।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (पश्चिम बंगाल के 24 परगना में हिंसा की खबरें हैं। फोटो क्रेडिट/ Zee News Twitter Handle)

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान के दौरान भी हिंसा देखी गई। हिंसा और धमकी का दौर ऐसा रहा कि एक पोलिंग ऑफिसर को भी नहीं बख्शा गया। मीडिया के कैमरे में कोलकाता के दमदम पोलिंग बूथ पर पीठासीन अधिकारी को फूट-फूटकर रोते हुए देखा गया। एबीपी न्यूज चैनल के मुताबिक पोलिंग अधिकारी से टीएमसी के एक पार्षद ने बदसलूकी की थी। जिससे आहत होकर वह रोने लगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जयनगर और दिनाजपुर से हिंसक वारदातों की सूचना मिली। इस दौरान बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी पर मारपीट का आरोप लगाया है। वहीं, दिनाजपुर में बमबारी भी की गई। गौरतलब है कि पूरे देश में लोकसभा की 59 सीटों के लिए आखिरी चरण के लिए वोट डाले जा रहे हैं। इनमें से 9 सीटों के लिए पश्चिम बंगाल में मतदान चल रहा है। लेकिन, हर चरण की तरह इस बार भी कई जगहों पर टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट की खबरें मिली हैं। बीजेपी ने आरोप लगाए हैं कि टीएमसी के गुंडे उनके कार्यकर्ताओं को पीट रहे हैं और वोटरों को डरा-धमका रहे हैं।

एबीवीपी से बातचीत में पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी पर तानाशाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की सरकार प्रजातांत्रिक नहीं है और गुंडों को संरक्षण देकर प्रदेश चला रही है। उन्होंने आरोप लगाए कि कई जगहों पर टीएमसी के लोगों ने उनके कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा है। हालांकि, टीएमसी पश्चिम बंगाल में बिगड़ते हालात के लिए बीजेपी को जिम्मेदार बताती रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App