ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक से पहले एक और इस्तीफा, 4 दिन में 3 कांग्रेस विधायकों ने छोड़ी पार्टी

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस के एक और विधायक ने गुजरात में पार्टी छोड़ दी है। बीते चार दिनों के भीतर तीन कांग्रेस विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं।

लोकसभा चुनाव से पहल गुजरात में 4 दिन में 3 कांग्रेस विधायकों ने छोड़ी पार्टी फोटो सोर्स- जनसत्ता

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव से पूर्व गुजरात में 58 साल बाद होने जा रही कांग्रेस कार्य समिति की बैठक से पहले  कांग्रेस पार्टी को फिर एक झटका लगा है। यहां जामनगर (ग्रामीण) से कांग्रेस विधायक वल्लभ धारविया ने विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को अपना इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। पिछले चार दिनों में कांग्रेस के तीन विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दिया है। बता दें कि इसके पहले माणवदर से चार बार के विधायक जवाहर चावड़ा और धरंगधरा से विधायक परषोत्तम सपारिया ने कांग्रेस छोड़ दी थी।

राहुल- प्रियंका के दौरे से पहले कांग्रेस को झटका: बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज (मंगलवार) को गुजरात दौरे पर हैं। यहां कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में वह अपनी बहन और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के साथ शामिल होंगे। इस दौरान सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कई बड़े नेता उनके साथ मौजूद रहेंगे। लेकिन इससे पहले ही कांग्रेस के कई विधायक पार्टी छोड़ के जा रहे है, जिसे लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए एक झटके के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि धारविया के इस्तीफे से पहले कांग्रेस के ही परषोत्तम सबारिया और जवाहर चावड़ा ने भी पार्टी को अलविदा कह दिया था।

पीएम मोदी के गढ़ में 58 साल बाद कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक, जानें पल-पल का हाल   

विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने की पुष्टि: गुजरात में कांग्रेस के विधायक रहे वल्लभ धारविया के पार्टी छोड़ने की पुष्टि करते हुए विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने कहा, “धारविया ने जामनगर (ग्रामीण) के विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने मुझे बताया कि वह स्वेच्छा से इस्तीफा दे रहे हैं।”

क्या बोले वल्लभ धारविया: बता दें कि धारविया 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस में जाने और विपक्षी पार्टी के टिकट पर जीतने से पहले वह बीजेपी के ही साथ थे। सोमवार को फिर से बीजेपी में जाने के बाद उन्होंने कहा, “मैं मूल रूप से बीजेपी का सिपाही हूं। मैंने इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में काम किया था। मैं अंदरूनी कलह की वजह से कांग्रेस छोड़ रहा हूं। मैंने महसूस किया है कि केवल बीजेपी ही लोगों की भलाई कर सकती है।” इसके बाद उन्होंने कहा, “पाकिस्तान (आतंकी शिविर) पर हाल में (26 फरवरी) को हवाई हमलों के बाद मैंने महसूस किया कि मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में फिर से निर्वाचित होना चाहिए। कांग्रेस में इस तरह का नेतृत्व नहीं है।”

5 विधायकों ने छोड़ी कांग्रेस: बता दें कि एक तरफ जहां कांग्रेस लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी है तो वहीं दूसरी तरफ उसके कई विधायक पार्टी छोड़ के जा रहे हैं। इन विधायकों में वल्लभ धारविया, परषोत्तम सबारिया और जवाहर चावड़ा शामिल है। इसके अलावा भगवान बराड़ को पांच मार्च को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया गया था तो वहीं इसके पहले कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक कुंवरजी बावलिया और पिछले महीने उंझा से पहली बार विधायक बनी आशा पटेल ने भी सदन और कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App