ताज़ा खबर
 

Nobel पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी बोले- गांधी सत्ता और राजनीति से ऊपर, प्रज्ञा ठाकुर जैसे लोग कर रहे देश की आत्मा की हत्या

Lok Sabha Election 2019: नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने साध्वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या कि पर प्रज्ञा जैेेसे लोग देश की आत्मा की हत्या कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | May 18, 2019 5:11 PM
नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी फोटो सोर्स-जनसत्ता

Lok Sabha Election 2019: नाथूराम गोडसे विवाद पर बयानबाजी का जारी है। अब इस मामले में नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी का भी बयान आया है। उन्होंने शनिवार (18 मई) को अपने ट्विटर अकॉउंट पर लिखा कि महात्मा गांधी सत्ता और राजनीति से ऊपर हैं। माना जा रहा है कि कैलाश का यह बयान मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी और भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान के बाद आया है। बता दें प्रज्ञा ने हाला ही में कहा था कि नाथूराम गोडसे एक देशभक्त थे। हालांकि बाद में प्रज्ञा ने अपनी टिप्पणी पर माफी मांग ली थी।

प्रज्ञा ने की देश की आत्मा की हत्याः कैलाश सत्यार्थी ने अपने ट्वीट में कहा,’गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या की थी, परंतु प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा की हत्या के साथ, अहिंसा,शांति, सहिष्णुता और भारत की आत्मा की हत्या कर रहे हैं। गांधी हर सत्ता और राजनीति से ऊपर हैं। भाजपा नेतृत्व छोटे से फ़ायदे का मोह छोड़ कर उन्हें तत्काल पार्टी से निकाल कर राजधर्म निभाए।’

RATE YOUR MP: कैसा है आपके क्षेत्र का सांसद, यहां दीजिए रेटिंग 

गोडसे को बताया था देशभक्तः बता दें गुरुवार (16 मई) को साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि गोडसे एक देशभक्त था, है और रहेगा। जो लोग उसे आतंकवादी बुलाते हैं उन्हें अपने अंदर झांकने की जरूरत है। उन्हें चुनाव में इसका जवाब मिल जाएगा।

कमल हासन की टिप्पणी पर दिया था बयानः बता दें कि कुछ समय पहले अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने नाथूराम गोडसे पर बयान देते हुए कहा था कि गोडसे देश का पहला हिंदू आतंकवादी था। प्रज्ञा ने इसी बयान पर टिप्पणी की थी। इसके बाद इस मामले पर पीएम मोदी ने शुक्रवार (17 मई) को कहा था कि वह साध्वी प्रज्ञा को गोडसे को सच्चा देशभक्त बताने वाले बयान पर कभी माफ नहीं करेंगे।

 

पहले भी दिए विवादित बयानः बता दें इस साल अप्रैल में भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि 26/11 मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे की मौत उनके दिए हुए श्राप की वजह से हुई। उन्होंने कहा कि मालेगांव ब्लास्ट के दौरान करकरे ने उन्हें जांच के दौरान मानसिक और शारीरिक रूप से कष्ट पहुंचाया था।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App