ताज़ा खबर
 

मायावती ने की मुलायम को जिताने की अपील, कहा- वो हैं पिछड़ों के असली नेता, मोदी को बताया फर्जी OBC

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में 24 साल बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बीएसपी सुप्रीमों मायावती एक साथ एक मंच पर नजर आए। इस दौरान मायावती ने मुलायम को रिकॉर्ड मतों से जिताने की अपील की।

lok sabha election 2019: मायावती, मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव फोटो सोर्स- एसपी/ट्विटर

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में 24 साल बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बीएसपी सुप्रीमों मायावती एक साथ एक मंच पर नजर आए। इस दौरान मायावती ने कहा कि यहां यूपी में बीएसपी-सपा-आरएलडी के बने इस गठबंधन की लोकसभा चुनावी महा रैली सबका हार्दिक दिल से आभार प्रकट करती हूं। आज मुझे इस भीड़ के जोश को देखकर ऐसा लग रहा है कि इस बार चुनाव में मैनपुरी लोकसभा सीट से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को रिकॉर्ड तोड़ वोट से जीत दिलाएंगे। इस दौरान उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को फर्जी ओबीसी बताया है।

क्या बोलीं मायावती: बीएसपी सुप्रीमों ने कहा कि मैं कहना चाहूंगी 2 जून 1995 के गेस्ट हाउसकांड के बाद दोनों पार्टियों का गठबंधन करके चुनाव लड़ रहे हैं। इसका जवाब आप जानना चाहेंगे, इन सबका जवाब मीडिया को गठबंधन के ऐलान के वक्त दे चुकी हूं। देश में आम जनहित में पार्टी के मूवमेंट के हित में कभी कभी हमें कुछ कठिन फैसले लेने पड़ते हैं, इसको आगे रखते हुए हमने सपा के साथ चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।

National Hindi News, 19 April 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के यहां क्लिक करें 

मायावती ने की मुलायम की तारीफ पीएम पर साधा निशाना: उन्होंने कहा कि सपा से चुनाव लड़ रहे मुलायम के बारे में मैं कहना चाहूंगी इन्होंने अपने समाजवादी बैनर के तले सभी समाज के लोगों को अपनी पार्टी में जोड़ा खासकर अपने अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों को बड़े पैमाने पर जोड़ा है मुलायम को ही अपना असली और वास्तिवक नेता मानकर चलते हैं ये पीएम मोदी की तरह ये नकली या फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं है। बीएसपी सुप्रीमों ने आगे कहा कि मुलायम जन्मजात पिछड़े वर्ग के हैं, असली पिछड़े वर्ग के हैं। मोदी के बारे में ये बात सर्वविदित है कि उन्होंने गुजरात में अपनी सरकार के समय में सत्ता का दुरुप्रयोग कर अगड़ी जाति को पिछड़े वर्ग का घोषित कर लिया था। इतना ही नहीं इन्होंने अपने को पिछड़ा बताकर लोकसभा चुनाव में लाभ उठाया था। दलित और अन्य पिछड़े वर्ग के बद सरकारी विभागों में खाली पड़े हैं।

गठबंधन को सराब कहने पर मायावती ने दिया जवाब: मायावती ने कहा कि मोदी ने गठबंधन को शराब की बजाए सराब बोल देते हैं। जो हमारे गठबंधन को शराब की संज्ञा दी है कि आज नशे में चूर है जनता जो कि बीजेपी को रोकने के लिए है। जनता इनके बहकावे में आने वाली नहीं है। दो चरण के चुनाव में बीजेपी की हवा खराब हो गई है, आगे के चरण में हालत बहुत ज्यादा खराब हो जाएगी।

मुलायम को जिताने अपील की: मायावती ने कहा कि पिछड़ों के नेता मुलायम को चुनकर संसद भेजें। अखिलेश विरासत को संभाले हुए और निष्टा से निभा रहे हैं। आजादी के बाद काफी लंबे समय तक केंद्रे और राज्य में कांग्रेस और बीजेपी की ही सरकारें रहीं. कांग्रेस पार्टी के केंद्र में और राज्यों में रहे शासनकाल में गलत नीतियों के कारण उन्हें सत्ता से बाहर होना पड़ा है। बीजेपी ने अच्छे दिन दिखाने का वादा किया था पर एक भी चौथाई कार्य नहीं किया। मोदी ने पिछले चुनाव में वादे किए कई तरह के 100 दिनों के अंदर विदेशों में काला धन लाने की बात की गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App