ताज़ा खबर
 

गोडसे के बखान पर भड़के कुमार विश्वास, कहा- हजार साल की गुलामी के बाद मिली आजादी, हत्यारों के महिमामंडन में बीत रही

गोडसे और गांधी विवाद पर कुमार विश्वास ने कहा कि एक हजार साल की गुलामी के बाद मिली आजादी हत्यारों का महिमामंडन करने, उन्हें न्यायसंगत बनाने में बीत रही है।

कुमार विश्वास फोटो सोर्स- ट्विटर DrKumarVishwas

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव के दौरान सियासी बयानबाजी में महात्मा गांधी के नाम को घसीटने से नाराज कवि कुमार विश्वास ने इशारों में बीजेपी के नेताओं पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि एक हजार साल की गुलामी के बाद बलिदानों से मिली आजादी अगर हत्याओं व हत्यारों के महिमामंडन करने, उन्हें न्यायसंगत बनाने में बीत रही है तो भविष्य स्वाधीनता को अयोग्य हाथों में समझकर वापस भी ले सकता है। बता दें कि हाल में बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था। इसके बाद पीएम मोदी ने प्रज्ञा के बयान पर नाराजगी जताई है।

National Hindi News, 17 May 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरों के लिए क्लिक करें

क्या बोले कुमार विश्वास: मशहूर कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट के जरिए कहा, “1000 साल की गुलामी के बाद बलिदानों से मिली आजादी अगर हत्याओं व हत्यारों के महिमामंडन करने, उन्हें न्यायसंगत बनाने में बीत रही है, अगर घृणा में लिपटे हम,मर-कट रहे हैं तो भविष्य स्वाधीनता को अयोग्य हाथों में समझकर वापस भी ले सकता है। दल-नेता-विचार के बंधकों के अलावा हर भारतीय सोचे।

 

कुमार बोले, बचो या बंटो: कुमार विश्वास ने एक और ट्वीट में कहा कि म्यांमार, कंधार तक फैला भारत किन परिस्थितियों व किन सत्ता-पिस्सूओं के कारण कैसे बंटा होगा यह जानना है तो पाकिस्तान व अफगानिस्तान जैसे पड़ोसियों का वर्तमान पढ़ या देख लीजिए। आज भारत में जाति, धर्म, आस्था, क्षेत्रीयता के वैसे ही दुकानदार देश को उसी और ले जाने में जुटे पड़े है। बचो या बंटो। आखिरी में कुमार विश्वास ने चौ० मदनमोहन समर की लाइन का जिक्र करते हुए लिखा गांधी होने में ‘एक उम्र’ लगती है, गोडसे तो ‘एक पल’ में हुआ जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App