ताज़ा खबर
 

प्रियंका गांधी के बदले कांग्रेस का यह नेता बनारस में देगा मोदी को चुनौती, पांच साल पहले तीसरे नंबर पर रहे थे

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस ने अपने पुराने प्रत्याशी अजय राय को फिर से मौका दिया है। 2014 में भी उन्होंने मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन तब वे तीसरे नंबर पर रहे थे।

प्रियंका गांधी और पीएम मोदी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Lok Sabha Election 2019 के लिए सक्रिय सियासत में उतरीं प्रियंका गांधी के वाराणसी से चुनाव लड़ने की अटकलों पर अब पूर्ण विराम लग गया है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस ने अपने पुराने प्रत्याशी अजय राय को फिर से मौका दिया है। 2014 में भी उन्होंने मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन तब वे तीसरे नंबर पर रहे थे। उस चुनाव में आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल दूसरे स्थान पर रहे थे। प्रियंका को इस साल की शुरुआत में महासचिव बनाने और पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपे जाने के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि वे चुनाव भी लड़ सकती हैं। पहले उनके रायबरेली से लड़ने की संभावनाएं जताई गई थीं लेकिन वहां से भी एक बार फिर सोनिया गांधी मैदान में हैं।

National Hindi News, 25 April 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

प्रियंका को मिला था बनारस से निमंत्रण: अजय राय ने कहा था कि हम सब लोगों की मांग है कि प्रियंका दीदी आएं और बनारस से चुनाव लड़ें। हालांकि, आज कांग्रेस ने फिर अजय उम्मीदवार को ही प्रत्याशी बनाया।

क्यों था प्रियंका गांधी के बनारस लड़ने पर सस्पेंस: राजनीति में आने के बाद लगातार प्रियंका गांधी सुर्खियों में हैं। मार्च के बाद ऐसे कयास तेज हो गए थे कि प्रियंका गांधी बनारस से पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। यूपी पूर्वी में कांग्रेस ने उन्हें महासचिव बनाते हुए बड़ा जिम्मा दिया था, जिसके बाद कयास और तेज हो गए थे। इस दौरान जब भी प्रियंका गांधी से पूछा गया कि क्या वे बनारस से चुनाव लड़ेंगी? तब वो कहती थीं- जहां से मेरी पार्टी कहेगी मैं चुनाव लड़ूंगी। राहुल गांधी ने भी कहा था कि अभी सस्पेंस बने रहने दीजिए।

कौन हैं अजय रायः नरेंद्र मोदी के खिलाफ दूसरी बार मैदान में उतरे अजय राय का कई सियासी दलों से नाता रहा है। अपने सियासी करियर की शुरुआत उन्होंने भारतीय जनता पार्टी से ही की थी। 1996 में भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्य बने थे। 1996 में बीजेपी ने उन्हें कोलासला सीट से विधानसभा चुनाव में उतारा था। उन्होंने यह चुनाव महज 484 वोटों के अंतर से जीता था। इसके बाद 2002 और 2007 में उन्होंने बीएसपी के अवधेश सिंह को हराकर यह सीट जीती थी। भूमिहार वर्ग से संबंध रखने वाले राय ने 2009 बीजेपी की तरफ से लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं मिलने पर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद राय ने समाजवादी पार्टी का दामन थामा और मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ चुनाव लड़ा। उस चुनाव में भी वे तीसरे नंबर पर ही रहे थे। इसके बाद वे विधानसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे। 2014 में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और एक बार फिर वे तीसरे नंबर पर रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अजय राय के खिलाफ 16 आपराधिक मुकदमे चल चुके हैं। उन्हें गैंग्स्टर एक्ट के तहत गिरफ्तार भी किया गया था।

ajay rai अजय राय (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

अजय राय ने एक टीवी चैनल से कहा- मुझे जानकारी मिली है, इस बार भी फिर मजबूती से चुनाव लड़ेंगे। बाहर के लोग बनारस को नहीं समझ पाए। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के नाम पर यहां मंदिरों को तोड़ा। काशी के लोग जवाब देंगे। केजरीवाल जी बड़ी बात, झूठ बोलकर आए थे। हारने के बाद निकल गए। हम हारे या जीते यहीं रहेंगे। उनके पास पैसा है, संसाधन हैं, गुजरात की टीम आई है, 10 हजार लोग घूम रहे हैं, बाहर के लोग आकर मार्केटिंग कर रहे हैं।

वाराणसी लोकसभा सीट की जानकारी के लिए क्लिक करें 

प्रियंका को मिला था बनारस से निमंत्रण: अजय राय ने कहा था कि हम सब लोगों की मांग है कि प्रियंका दीदी आएं और बनारस से चुनाव लड़ें। हालांकि, आज कांग्रेस ने फिर अजय उम्मीदवार को ही प्रत्याशी बनाया। प्रियंका गांधी चुनाव नहीं लड़ रही हैं, ऐसा क्यों है ये नेतृत्व ही बता सकता है। प्रियंका और राहुल गांधी यहां आकर कैंप करेंगे। मैं पूरी ताकत के साथ लड़ूंगा। लड़ाई की शुरुआत हुई है हम अंत भी अच्छा करेंगे।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App