ताज़ा खबर
 

Election 2019: केरल बीजेपी अध्यक्ष बोले- एग्जिट पोल सही साबित हुए तो मानूंगा यहां के मतदाता जागरूक नहीं

Lok Sabha Election 2019: केरल बीजेपी अध्यक्ष ने दावा किया कि यदि चुनाव परिणाम में एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए तो इसका मतलब होगा कि केरल के मतदाता राजनीतिक रूप से जागरूक नहीं थे।

बीजेपी का फ्लैग फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे गुरुवार (22 मई) को आने वाले हैं। लेकिन इससे पहले केरल को लेकर आए एग्जिट पोल के नतीजे पर केरल बीजेपी के अध्यक्ष श्रीधरन पिल्लई ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। पिल्लई ने दावा किया कि यदि चुनाव परिणाम में एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए तो इसका मतलब होगा कि केरल के मतदाता राजनीतिक रूप से जागरूक नहीं थे। बता दें कि एग्जिट पोल के अनुमान के मुताबिक बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए राज्य की कुल 20 में से केवल एक या दो  सीटों पर जीत हासिल कर पाएगी। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि 1977 में जब पूरे देश ने तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी को नकार दिया था तब भी केरल ने सभी 20 सीटें कांग्रेस को जिताई थी।

National Hindi News, 22 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर खबर सिर्फ एक क्लिक में 

क्या बोले पिल्लई: टाइम्स नाउ के मुताबिक, केरल बीजेपी के अध्यक्ष पिल्लई ने 1977 के चुनाव जिसमें इंदिरा गांधी की अगुवाई वाली कांग्रेस जनता दल से हार गई थी के परिणामों का हवाला देते हुए कहा कि केरल ने तब भी कांग्रेस को सभी 20 सीटें दी थीं, जब देश ने ‘गांधी जैसे निरंकुश नेता’ को अस्वीकार कर दिया था।

 

एग्जिट पोल पर कही यह बात: पत्रकारों से बात करते हुए, पिल्लई ने कहा, “अगर एक्जिट पोल के अनुमान सही हैं, तो केरल के लोगों को भारत में कम राजनीतिक समझ वाले के रूप में देखा जाएगा। हमने ऐसा ही  1977 में देखा था जब देश ने इंदिरा गांधी की तरह एक निरंकुश नेता को खारिज कर दिया था, लेकिन केरल ने कांग्रेस को सभी 20 सीटें दीं थी।”

दरअसल, रविवार को जारी हुए अधिकांश एग्जिट पोल में अनुमान लगाया गया है कि बीजेपी राज्य में अपना खाता खोल सकती है। उसे एक या दो सीटों पर जीत मिलने की संभावना जताई गई थी। टाइम्स नाउ-वीएमआर के एग्जिट पोल के अनुसार, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ को 15 सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद है, जबकि सीपीआई (एम) के नेतृत्व वाले एलडीएफ को चार सीटों पर जीत की संभावना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X