ताज़ा खबर
 

आजम खान और जयाप्रदा की दुश्मनी की कहानीः मॉर्फ्ड फोटो वायरल होने पर अभिनेत्री ने आत्महत्या की सोची थी

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): आजम खान और जया प्रदा के बीच तल्ख रिश्तों की शुरुआत उस वक्त हुई जब समाजवादी पार्टी में एक वक्त बड़ा रूतबा रखने वाले अमर सिंह की एंट्री होती है।

jaya prada joins bjpआजम खान और जया प्रदा (फोटो सोर्स : फेसबुक)

लोकसभा चुनाव 2019 धीरे-धीरे गति पकड़ रहा है। पार्टियों में एक नेताओं के आने जाने का सिलसिला तेज हो गया है। कुछ पार्टियों ने ऐसे पुराने चेहरों को विरोधियों के सामने मैदान में उतारा है जो कभी खूब चर्चा में रहे हैं। मंगलवार को उत्तर प्रदेश के रामपुर से बीजेपी ने कुछ ही घंटे पहले पार्टी ज्वाइन करने वाली हिंदी फिल्मों की एक्ट्रेस जया प्रदा को टिकट दिया है। उनका मुकाबला समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान से होगा। आजम खान और जया प्रदा के बीच तल्ख रिश्ते बहुत पुराने हैं। एक दूसरे खिलाफ बयानबाजी, आरोप प्रत्यारोप खूब हुए हैं। लेकिन एक वक्त था कि दोनों के रिश्ते समान्य थे और आजम खान ने पूर्व अभिनेत्री को चुनाव में जीत दिलाने में बड़ी भूमिका भी अदा की थी। पर रिश्ते ऐसे बिगड़े कि जया प्रदा अपने मॉर्फ्ड फोटो के वायरल होने से इतनी नाराज हुईं थीं कि उन्होंने आत्महत्या तक की सोच ली थी। आइए, बताते हैं कि दोनों के बीच रिश्ते कैसे बिगड़े?

National Hindi News Today Live: दिनभर की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए इस लिंक पर करें क्लिक

आजम खान ने कभी सीट जीतने में की थी मदद: बॉलीवुड में अभिनेत्री जया प्रदा का राजनीतिक करियर 2004 में तेलगु देशम पार्टी (TDP) के साथ था। पर उन्होंने उसी साल समाजवादी पार्टी (SP) में एंट्री की। इस दौरान उन्होंने रामपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा और 85,000 वोट से जीत हासिल की। कहा जाता है कि आजम खान ने ना सिर्फ सपा में जया प्रदा की एंट्री कराई बल्कि चुनाव जीतने में भी मदद की, क्योंकि रामपुर शुरू से आजम खान के गढ़ के तौर पर देखा जाता रहा है। कुछ सालों तक दोनों के बीच रिश्ते सामान्य थे।

अमर सिंह के कैंप में चली गईं जया: आजम खान और जया प्रदा के बीच तल्ख रिश्तों की शुरुआत उस वक्त हुई जब समाजवादी पार्टी में एक वक्त बड़ा रूतबा रखने वाले अमर सिंह की एंट्री होती है। जया प्रदा कुछ साल बाद अमर सिंह के कैंप में चली गईं। इसके बाद से दोनों के बीच बयानबाजी होती रही है। 2009 में दोनों के बीच रिश्ते उस वक्त और तल्ख हो गए जब रामपुर में आजम खान के सपोर्टर्स ने खुलेआम जया प्रदा के खिलाफ प्रचार किया। पार्टी में कई गतिविधियों और उतार चढ़ाव के बाद उस वक्त 2010 में समाजवादी पार्टी ने जया प्रदा और अमर सिंह को निकाल भी दिया था। कहा जाता है कि आजम खान गुट ने अपने दम पर ऐसा करवाया था।

jaya prada and amar singh 12 जया प्रदा और अमर सिंह (फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस)

जब जया प्रदा ने आत्महत्या की सोची, कहा था- मेरे पर एसिड अटैक का खतरा था: जया प्रदा ने कहा था कि इंटरनेट पर मॉर्फ्ड फोटो वायरल होने के बाद वे तनाव में थीं। उन्होंने एक वक्त में सुसाइड करने की भी सोची थी। आजम खाने के खिलाफ चुनाव लड़ने पर उन्होंने कहा था- जिस हालात में मैं एक महिला के तौर पर आजम खान के खिलाफ चुनाव लड़ रही थी उस समय मुझपर एसिड अटैक और जानलेवा हमले का खतरा था। जब कभी भी मैं घर से बाहर जाती थी तो मैं अपनी मां को यह भी नहीं बता सकती थी कि मैं जिंदा लौटूंगी या नहीं। ऐसी स्थिति में भी मेरा साथ देने कोई नहीं आया।

 

अमर सिंह से रिश्तों पर क्या कहती हैं: जयाप्रदा कहती हैं कि अमर सिंह उनकी जिंदगी में एक गॉड फादर हैं। जया प्रदा ने कहा था- लोग मेरे और उनके (अमर सिंह) के बारे में नाकारात्मक बाते बनाते हैं। यदि वे अमर सिंह को राखी भी बांध दे तब भी लोग बातें बनाना बंद नहीं करेंगे। जया ने कहा था- मेरी तस्वीरों से जब छेड़छाड़ हुई थी तो मैंने सुसाइड करने तक की सोच ली थी लेकिन डायलिसिस से आने के बाद सिर्फ अमर सिंह ही मेरे साथ खड़े हुए थे। लोग क्या कहते हैं मुझे अब इसकी परवाह नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: योगी के मंत्री का न्यूनतम आय योजना पर निशाना, कहा- पप्पू कर रहे देश के लोगों को ‘पप्पू’ बनाने की कोशिश
2 Loksabha election 2019: वायानाड सीट से राहुल का लड़ना क्यों है सुरक्षित, जानिए
3 BJP Candidates List 2019: रामपुर में जया प्रदा करेंगी आजम खान का मुकाबला, पार्टी ने मेनका-वरुण गांधी की सीट बदली
ये पढ़ा क्या ?
X