ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: ‘जो मुझसे पंगा लेगा, उसे उसकी जगह दिखा दूंगा’, PM नरेंद्र मोदी पर बरसे शरद पवार

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा प्रधानमंत्री सुरक्षाबलों के शौर्य का अपने प्रचार के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह सरकार यहां तक कि कुलभूषण जाधव तक की रिहाई कराने में असफल रही है। 56 इंच का सीना कहां चला गया?’’

पीएम मोदी ने बुधवार को गोंडिया में एक चुनाव रैली में कहा था कि राकांपा नेताओं की नींद उड़ गई है। (फाइल फोटो)

Lok Sabha Election 2019: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार बोले हैं कि वह खुद किसी से पहले से पंगा नहीं लेते हैं, पर ऐसा करने वाले को ‘‘उसकी जगह दिखा देते हैं।’’ गुरुवार (चार अप्रैल, 2019) को पवार ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद मोदी पर सेना के पराक्रम का राजनीतिक लाभ उठाने का भी आरोप लगाया। दरअसल, मोदी ने बुधवार को गोंडिया में एक चुनाव रैली में कहा था कि राकांपा नेताओं की नींद उड़ गई है। उससे पहले, सोमवार को पीएम ने वर्धा में एक अन्य रैली में राकांपा प्रमुख पर यह कहकर हमला किया था कि पवार ने अपनी पार्टी पर पकड़ खो दी है और इसके भीतर ‘‘पारिवारिक कलह’’ चल रही है।

मध्य महाराष्ट्र में जनसभा में पवार ने कहा, ‘‘हम उस मिट्टी से हैं जहां छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म हुआ। हम खुद पहले से किसी पंगा नहीं लेते, लेकिन कोई अगर ऐसा करता है तो उसे उसकी जगह दिखा देते हैं।’’ पवार वहां राकांपा उम्मीदवार राणा जगजीत सिंह पाटिल के लिए प्रचार करने पहुंचे थे। राकांपा प्रमुख ने कहा कि मोदी पूछते हैं कि उन्होंने रक्षामंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान क्या किया।

बता दें कि पवार 1991 से 1993 तक देश के रक्षामंत्री थे। उस समय वह कांग्रेस में थे। पवार ने जवाबी हमला करते हुए कहा कि उन्होंने देश में हमले नहीं होने दिए जैसा कि मोदी की सरकार के दौरान हो रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी कहते रहे हैं कि देश में पिछले 70 साल में पूर्ववर्ती सरकारों के दौरान कोई विकास नहीं हुआ, लेकिन मोदी को बताना चाहिए कि क्या उन्होंने इसमें अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकारों (1998 से 2004) के कार्यकाल को भी जोड़ा है।

पवार ने राष्ट्र निर्माण में योगदान के लिए पूर्व प्रधानमंत्री- जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री और राजीव गांधी की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा प्रधानमंत्री सुरक्षाबलों के शौर्य का अपने प्रचार के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह सरकार यहां तक कि कुलभूषण जाधव तक की रिहाई कराने में असफल रही है। 56 इंच का सीना कहां चला गया?’’ उस्मानाबाद निर्वाचन क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App