ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: नरेंद्र मोदी से ही मिला है 72 हजार का आइडिया- राहुल गांधी ने खुद बताया

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): न्याय का मकसद पांच करोड़ परिवारों या फिर करीब 25 करोड़ गरीब लोगों को लाभान्वित करना है। हालांकि, बीजेपी ने इसे मुद्दा बनाते हुए कहा है कि इस तरह के चुनावी वादे कांग्रेस के काम नहीं आएंगे।

lok sabha, lok sabha election, lok sabha election 2019, lok sabha election 2019 schedule, lok sabha election date, lok sabha election 2019 date, लोकसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव 2019, chunav, lok sabha chunav, lok sabha chunav 2019 dates, lok sabha news, election 2019, election 2019 news, Rahul Gandhi, Congress, Idea, Minimum Income Guarantee Scheme, Rs 15 Lakh, Speech, Prime Minister, Narendra Modi, BJP, Yamunanagar, Haryana, Rally, Lok Sabha Election, India News, National News, Hindi Newsकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। (फोटोः पीटीआई)

Lok Sabha Election 2019: गरीबों को 72 हजार रुपए प्रति साल देने वाला आइडिया कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला था। शुक्रवार (29 मार्च, 2019) को यह खुलासा खुद राहुल ने किया। उन्होंने बताया कि न्यूनतम आय गारंटी योजना (न्याय) का ख्याल उन्हें पीएम मोदी के ’15 लाख’ वाले भाषण से आया था, जो उन्होंने 2014 के आम चुनाव के वक्त दिया था।

हरियाणा के यमुनानगर में हुई रैली के दौरान कांग्रेस चीफ बोले, “मैंने पीएम का वह भाषण सुना था, जिसमें उन्होंने हर भारतीय को 15 लाख रुपए खाते में देने का वादा किया था। उन्होंने वह बात दो से तीन बार कही थी…15 लाख…मैंने सोचा था कि वह सही बात बोल रहे हैं। यह आइडिया बिल्कुल ठीक है कि रकम गरीब लोगों के खातों में जानी चाहिए। मैंने वहीं से यह आइडिया ले लिया।”

बकौल गांधी, “मैंने पीएम का भाषण सुनने के बाद कांग्रेस के बुद्धिजीवियों से सलाह-मशविरा किया और उन लोगों से देश के गरीबों को सशक्त बनाने के लिए कोई योजना तैयार करने के लिए कहा था। लगभग छह महीने हम इस मसले पर चर्चा करते रहे। और अब हमारे पास योजना है, जिसका नाम है- न्याय। इसके तहत देश के सबसे गरीब लोगों के बैंक खातों में 72 हजार रुपए प्रति साल जमा कराए जाएंगे।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे यह भी कहा कि न्याय योजना इतनी शक्तिशाली है कि उसने नरेंद्र मोदी को हिला कर रख दिया है। बता दें कि राहुल ने इस हफ्ते की शुरुआत में बड़ा ऐलान करते हुए वादा किया था कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीतकर सत्ता में आएगी, तब वह इस योजना को लागू करेंगे, जिससे देश के 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा।

न्याय का मकसद पांच करोड़ परिवारों या फिर करीब 25 करोड़ गरीब लोगों को लाभान्वित करना है। हालांकि, बीजेपी ने इसे मुद्दा बनाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष की आलोचना कर दी और कहा कि इस तरह के चुनावी वादे कांग्रेस के काम नहीं आएंगे। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसे फर्जी ऐलान करार दिया था।

‘झूठ सुनना चाहते हैं तो जाएं मोदी जी के पास’: हरियाणा के कुरुक्षेत्र में राहुल ने एक जन सभा के बीच कहा- अगर आप (जनता) झूठ सुनना चाहते हैं, तब पीएम मोदी के पास जाइए। उन्होंने 15 लाख देने का वादा किया था। उन्होंने झूठ बोला, लेकिन मैं झूठ नहीं बोलता। मैं 15 लाख का वादा तो नहीं कर सकता, लेकिन हां 72,000 जरूर दे सकता हूं।

राहुल का वार- अनिल अंबानी, मेहुल चौकसी को ‘भाई’ कहते हैं PM: कांग्रेस प्रमुख आगे करनाल में एक रैली में बोले, “मोदी जी, आप लोगों से बात करते वक्त ‘मित्रों’ कहते हैं, पर अनिल अंबानी और मेहुल चौकसी को वह ‘भाई’ पुकारते हैं?। अनिल भाई, ललित भाई, विजय भाई…मित्रों से पैसे लेते हैं और भाइयों को देते हैं।”

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: बीजेपी ने अलवर से बाबा बालकनाथ को मैदान में उतारा, चुरू से मौजूदा सांसद को टिकट
2 Lok Sabha Election 2019: महाराष्ट्र: कांग्रेस की जिला इकाई का ऐलान- भाजपा प्रत्याशी सुजय विखे पाटिल का करेंगे समर्थन
3 Lok Sabha Election 2019: AAP में शामिल हुईं महामंडलेश्वर मां भवानी नाथ, प्रयागराज से लड़ेंगी चुनाव, बोलीं- झूठे वादेवालों को हराएंगे
चुनावी चैलेंज
X