ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: CM मनोहर लाल खट्टर की मौजूदगी में नहीं दिया बोलने तो मंच पर ही रोने लगे बुजुर्ग भाजपाई नेता

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): आलम यह था कि गले में भाजपाई थीम वाले स्टोल से वह आंसू पोंछ रहे थे। फिर भी उनकी हालत पर किसी ने खासा ध्यान न दिया।

lok sabha, lok sabha election, lok sabha election 2019, lok sabha election 2019 schedule, lok sabha election date, lok sabha election 2019 date, लोकसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव 2019, chunav, lok sabha chunav, lok sabha chunav 2019 dates, lok sabha news, election 2019, election 2019 news, BJP Former MLA, Ram Rattan, Vijay Sankalp Rally, Haryana, Stage, Cry, CM, Manohar Lal Khattar, Aurangabad Village, National News, India News, Hindi Newsविजय संकल्प रैली में रविवार को रोते हुए भाजपा नेता। (फोटोः यूट्यूब)

Lok Sabha Election 2019: हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक बुजुर्ग नेता मंच पर ही बुरी तरह रोने लगे। रोचक बात है कि उस दौरान कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद थे। पर भाजपा नेता आंसुओं पर काबू न कर सके। बताया गया कि रैली में उन्हें बोलने का मौका नहीं दिया गया, जिसकी वजह से वह नाराज होकर रोने लगे।

‘टीओआई’ के मुताबिक, यह मामला सूबे में आयोजित भाजपा की विजय संकल्प रैली के दौरान का है। रविवार को वहां के औरंगाबाद गांव में मंच पर तब ढेर सारे पार्टी नेता मौजूद थे। उन्हीं में से एक थे- पूर्व विधायक राम रत्तन। उन्हें मंच पर सबके सामने बोलने का मौका नहीं दिया गया, तो वह फूट-फूट कर रोने लगे।

आलम यह था कि गले में भाजपाई थीम वाले स्टोल से वह आंसू पोंछ रहे थे। फिर भी उनकी हालत पर किसी ने खासा ध्यान न दिया। घटना से जुड़े वायरल वीडियो में उनके आसपास बैठे लोग तो मुस्कुराते नजर आए, पर किसी ने उनसे रोने के पीछे की वजह पूछना जरूरी न समझा।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि रत्तन होडल क्षेत्र से बीता विस चुनाव लड़ा था। हालांकि, सीएम के हवाले से इस मसले पर कहा गया, “भाजपा विधायक को वहां इसलिए नहीं बोलने दिया गया, क्योंकि सांसद और उनके खुद के बोलने का कोई भी मतलब नहीं होता है। वक्त भी कम था, लिहाजा बोलने का मौका नहीं दिया जा सका। बहरहाल, उन्हें इस मामले को लेकर समझा-बुझा दिया गया है।

सीएम ने इस रैली में कहा कि प्रदेश सरकार ने साढ़े चार साल में रिकॉर्ड तोड़ विकास कार्य कराए हैं। ऐसे में उन्हीं के नाम पर जनता भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को वोट देगी। वह यह भी बोले- पहले सूबे में नौकरियों की बोली लगती थी। पर अब मेरिट और योग्यता के आधार पर नौकरी दी जाती है।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पूर्णिया: उम्मीदवार पुराने पर समीकरण नए, राजद के वोट बैंक पर जीत की उम्मीद में कांग्रेस के पप्पू सिंह
2 Lok Sabha Election 2019: डिबेट में लगे नरेंद्र मोदी के नाम के नारे, जबरदस्त गरमा-गरमी के बीच बोले अभिनेता- हां, हूं PM का चमचा
3 Lok Sabha Election 2019: सुब्रमण्यम स्वामी का नरेंद्र मोदी और अरुण जेटली पर तंज- मेरे उठाए मुद्दे पर मांगते हैं वोट, पर नहीं लेते नाम