ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: महाराष्ट्र में चुनावी कार्य से इनकार करने वाले 26 शिक्षकों पर मामला दर्ज

Lok Sabha Election 2019: महाराष्ट्र के पालघर में चुनाव संबंधी कार्य करने से इनकार करने वाले 26 शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज करने की खबर है।

Author March 13, 2019 5:32 PM
प्रतीकात्मक फोटो

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। इस बीच महाराष्ट्र के पालघर से खबर है कि यहां चुनाव संबंधी कार्य करने से कथित तौर पर इनकार करने वाले कम से कम 26 शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि रविवार को मुख्य चुनाव आयुक्त ने जानकारी दी थी कि 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में 11 अप्रैल से चुनाव की शुरूआत होगी।

महाराष्ट्र के पालघर जिले में चुनाव संबंधी कार्य करने से कथित तौर पर इनकार करने वाले कम से कम 26 शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पालघर पुलिस प्रवक्ता हेमंत कुमार कातकर ने बुधवार को बताया कि नालासोपारा इलाके के एक स्कूल के शिक्षकों को मतदाता सूची अद्यतन करने एवं चुनाव संबंधित अन्य कार्यों के लिए पिछले साल बूथ स्तरीय अधिकारियों के तौर पर नियुक्त किया गया था। उन्होंने बताया कि इन शिक्षकों को ये काम जून 2018 से इस साल फरवरी के बीच करने थे। हालांकि उन्होंने बताया कि इलाके के चुनाव पंजीकरण प्रभारी अधिकारी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि 26 शिक्षकों ये कार्य नहीं किए। कातकर ने बताया कि शिकायत के आधार पर इन शिक्षकों के खिलाफ मंगलवार को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 32 (1) (मतदाता सूची तैयार करने के संबंध में आधिकारिक कर्तव्य का उल्लंघन) के तहत मामला दर्ज किया गया।

10वीं और 12वीं के शिक्षक चुनाव संबंधित कार्य नहीं करेंगे: इस बीच, निर्वाचन आयोग ने ऐलान किया है कि महाराष्ट्र में 10वीं और 12वीं कक्षा के 50,000 से ज्यादा शिक्षक अब लोकसभा चुनाव से संबंधित कार्य नहीं करेंगे। सहायक मुख्य निर्वाचन अधिकारी ए एन वल्वी ने बुधवार को एक सर्कुलर जारी करके 10वीं और 12वीं के शिक्षकों को चुनाव से संबंधित कार्यों से बाहर रखा है। इनकी संख्या 50,000 से ज्यादा है। महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं आयोजित की है।

बता दें कि राज्य के सभी 48 सीटों पर चार चरणों में 11 अप्रैल से 29 अप्रैल के बीच चुनाव आयोजित होगी। प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षकों के एक संगठन ‘शिक्षक भारती’ ने यह मुद्दा उठाया था और कहा था कि शिक्षकों को चुनाव के कार्य में जोड़ने से इन दोनों परीक्षाओं के परिणाम आने में देर हो सकती है। कई विभागों के साथ बातचीत करने के बाद निर्वाचन अधिकारी ने इन शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी से बाहर रखने का निर्णय लिया है। अन्य कक्षाओं के शिक्षकों को ड्यूटी से बाहर नहीं रखा गया है।

बता दें कि महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव चार चरणों में सपंन्न होंगे। पहले चरण (11 अप्रैल) को विदर्भ क्षेत्र में मतदान होगा, जबकि मुंबई की सभी सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान की तारीख तय हुई है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में लोकसभा की 48 सीटें हैं। एक आंकड़े के मुताबिक राज्य में 25 जनवरी तक कुल 8,73,30,484 मतदाता पंजीकृत थे।। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी कुमार ने बताया कि इस बार शहरी इलाकों में 11,000 नए मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App