ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: शरद पवार की बेटी सुप्रिया का परिवार में रार से इनकार, सबूत के तौर पर फोटो किया पोस्ट, कहा- भतीजे को टिकट मिलने से सभी खुश

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने उस बात को भी खारिज किया जिसमें कहा जा रहा था कि अजीत पवार अपने बेटे पार्थ के लिए टिकट की मांग पर अड़े थे। सुले ने कहा कि पार्थ को एक मौका मिला है, पूरा परिवार उम्मीद करता है कि वह बेहतर करेंगे।

Author March 17, 2019 12:21 PM
सुप्रीम सुले ने कहा कि उनके परिवार में लोकसभा टिकट को लेकर कोई तकरार नहीं है। (फोटो क्रेडिट/सुप्रिया सुले इंस्ट्राग्राम अकाउंट)

Lok Sabha Election 2019: शरद पवार की बेटी और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले ने उन कयासों को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा जा रहा था कि चुनाव लड़ने को लेकर उनके परिवार में गहरे मतभेद हैं। शनिवार सुले ने एक तस्वीर इंस्टाग्राम पर साझा करके कहा कि उनके परिवार में कोई झगड़ा या विवाद नहीं है। सुले ने कहा, “हमारे परिवार में कोई झगड़ा नहीं है। यह सिर्फ कयासबाजी है और इसमें कोई सच्चाई नहीं है। हम सभी संगठित हैं और अटूट परिवार के हिस्सा हैं। हम एक शानदार परिवार हैं।” शरद पवार की बेटी ने यह बात रोहित पवार, पार्थ पवार और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर पोस्ट करने के बाद कही। तस्वीर के कैप्शन में ‘ Funtime with family’ (परिवार के साथ मस्ती के पल) लिखा हुआ है।

इंस्टाग्राम पर पोस्ट की गई तस्वीर में परिवार के अमूमन वही सदस्य हैं, जिनके संदर्भ में विवाद होने की बात कही जा रही ती। रोहित पवार, शरद पवार के भतीजे के बेटे हैं और पुणे जिला परिषद के सदस्य भी हैं। जबकि, पार्थ पवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की तरफ से महावल लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया गया है। सुप्रिया सुले ने बताया कि तस्वीर रविवार (16 मार्च) शाम की है, जब पार्थ के नामांकन का ऐलान किया गया। उन्होंने कहा कि पार्थ, रोहित और पवार फैमिली के सभी सदस्य जश्न के मूड में हैं।

Fun Time With Family! @partthpawar @rohit_rajendra_pawar_

A post shared by Supriya Sule (@supriyasule) on

सुप्रिया ने परिवार में जारी मनमुटाव पर सफाई देते हुए कहा, “हमारे बीच बाकी परिवारों की तरह कभी झगड़ा नहीं हुआ और ना ही कभी मनमुटाव रहा। कुछ वक्त पहले वे मेरे और अजीत दादा (NCP नेता अजीत पवार शरद पवार के भतीजे हैं और पार्थ के पिता हैं) के बीच मनमुटाव होने की बात किया करते थे, जो कि पूरी तरह से बेबुनियाद है। आखिरकार सभी को पता चल गया कि मेरे और अजीत दादा के बीच कोई मतभेद नहीं है।” सुले ने बताया कि पार्थ को उम्मीदवार बनाए जाने पर हमारे परिवार के बीच कोई मतभेद नहीं है। उन्होंने कहा, “मेरे पिता की सोच थी कि अगर पवार परिवार से तीन लोगों को लोकसभा का टिकट दिया जाता है, तो यह गलत संदेश जाएगा और इसीलिए उन्होंने खुद को (चुनाव की) रेस से अलग कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App