ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: तो क्‍या शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने बना लिया बीजेपी छोड़ने का मन? यह ट्वीट इशारा तो नहीं?

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): सिन्‍हा न केवल पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ बयान देते रहे हैं, बल्‍कि भाजपा विरोधी दलों के नेताओं और कार्यक्रमों से भी जुड़ाव रखते रहे हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा, बिहार में पटनासाहिब सीट से बीजेपी के सांसद हैं। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः शुभम दत्ता)

Lok Sabha Election 2019: नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद से ही उन पर लगातार हमलावर रह रहे बीजेपी सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने क्‍या पार्टी छोड़ने का मन बना लिया है? यह सवाल उनके एक ट्वीट से उठ रहा है। 15 मार्च को उन्‍होंने ट्वीट किया- मोहब्बत करने वाले कम न होंगे, (शायद) तेरी महफिल में लेकिन हम न होंगे।

दरअसल, शत्रु ने सिलसिलेवार ट्वीट्स में पीएम मोदी या फिर उनकी पार्टी का नाम लिए बगैर उन पर जुबानी हमला बोला था। उन्होंने लिखा था, “सर, देश आपकी इज्जत करता है। लेकिन आपके नेतृत्व में साख और विश्वास वाले फैक्टर की कमी है। नेतृत्व जो कर रहा है और जो कह रहा है, क्या लोग उस पर विश्वास कर रहे हैं? खैर, यह सब सामान्य हो चुका है और काफी देर भी हो चुकी है।”

शत्रुघ्न ने दूसरा ट्वीट करते हुए अपनी बात पूरी की। उन्होंने कहा, “पुराने किए गए वादे अभी तक पूरे नहीं किए जा सके हैं। उम्मीद और चाहत के साथ बस प्रार्थना करता हूं। हो सकता है कि मैं आपके साथ आगे नहीं रहूंगा- “मोहब्बत करने वाले कम ना होंगे, (शायद) तेरी महफिल में लेकिन हम ना होंगे।”

सिन्हा ने शुक्रवार को पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए ये दो ट्वीट किए।

सिन्हा ने शुक्रवार को पीएम पर निशाना साधते हुए ये दो ट्वीट किए।हालांकि, माना जा रहा है कि शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी से पूरी तरह इस चुनाव में नाता तोड़ लेंगे। पिछले दिनों सिन्हा ने जोर देकर कहा था कि वह लोकसभा चुनाव लड़ेंगे और पटना साहिब से ही लड़ेंगे। उन्होंने यह भी संकेत दिए थे कि पार्टी अभी तक डिसाइड नहीं है। शत्रुघ्न सिन्हा ने 22 मार्च को इस मामले में घोषणा करने की बात कही थी।

बता दें कि सिन्‍हा न केवल पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ बयान देते रहे हैं, बल्‍कि भाजपा विरोधी दलों के नेताओं और कार्यक्रमों से भी जुड़ाव रखते रहे हैं। ऐसे में साफ माना जा रहा है कि उन्‍हें पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं देने वाली। इसलिए अब चुनाव का ऐलान होने के बाद सिन्‍हा निर्णायक कदम उठा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App