ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: दिग्विजय सिंह ने सरकारी कर्मचारियों से मांगी माफी, कहा- 2003 में हो गई थी ‘भूल’

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने साल 2003 की भूल के लिए भोपाल में सरकारी कर्मचारियों से माफी मांगी है।

digvijay singhकांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह फोटो सोर्सः फाइनेंशियल एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और एमपी की भोपाल सीट से लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने 15 साल पहले अपने बयान के लिए माफी मांगी है। उन्होंने राज्‍य कर्मचारियों के होली मिलन समारोह के दौरान कहा कि वर्ष 2003 की भूल-चूक के लिए उन्‍हें माफ कर दें। बताया जा रहा है कि प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों की नाराजगी की वजह से ही वर्ष 2003 में दिग्विजय सरकार की हार हुई थी।

क्या बोले दिग्विजय: दरअसल, लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भोपाल में राज्य कर्मचारियों के बीच होली मिलन समारोह में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा, “15 वर्ष बीत गए हैं। ये समय होली मनाने का है। अगर मैंने कोई गलती की है तो मुझे माफ कर दें।” इसके बाद दिग्विजय के माफी मांगने पर कर्मचारी नेता सुधीर नायक ने कहा कि ‘माफी मांगना अच्छी बात है।’

National Hindi News Today LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्या बोले कर्मचारी नेता: बता दें कि दिग्विजय के बयान के बाद मंत्रालय कर्मचारी यूनियन के अध्‍यक्ष सुधीर नायक ने कहा कि एक वोटर अपने नेता का ट्रैक रिकॉर्ड जरूर देखता है। इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि मौजूदा कमलनाथ सरकार ने अब तक कर्मचारियों के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कर्मचारियों का दिल बड़ा है और वे दिग्विजय को माफ कर देंगे।

क्या था मामला: बता दें कि वर्ष 2003 में विधानसभा चुनाव के दौरान मौजूदा दिग्विजय सरकार को हार का सामना करना पड़ा था। माना जाता है कि दिग्विजय की हार उस समय राज्य कर्मचारियों में वेतन भत्तों को लेकर व्याप्त नाराजगी रही थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तब की दिग्विजय सरकार ने करीब 25 हजार से अधिक दैनिक वेतनभोगियों को नौकरी से हटाने का आदेश दिया था। इसके अलावा जब इस मुद्दे पर उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि चुनाव प्रबंधन से जीते जाते हैं, कर्मचारियों या दूसरे वर्गों को साधने से नहीं। ऐसे में दिग्विजय का ताजा बयान 2003 की नाराजगी दूर करने की तरफ उठाया गया कदम माना जा रहा है।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 सैंकड़ों फिल्म मेकर्स ने बीजेपी के खिलाफ खोला मोर्चा, बोले- बीजेपी को ना करें वोट
2 ADR की रिपोर्ट : लोकसभा के 83 प्रतिशत सदस्य करोड़पति, 33 प्रतिशत दागी
3 अमित शाह पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप, अदालत ने दी राहत
ये पढ़ा क्या?
X