ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस प्रत्याशी की किरकिरी, आतंकी गतिविधियों में गिरफ्तार शख्स के समर्थन में आयोजित कार्यक्रम में जाने की तस्वीर वायरल

कांग्रेस नेता नवीनचंद्र बांदीवडेकर ने सनातन संस्था के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें बांदीवडेकर महाराष्ट्र में आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार वैभव राउत के समर्थन में खड़े हैं।

Author Updated: March 22, 2019 10:31 AM
तस्वीर में बायीं ओर से दूसरे नंबर पर हैं कांग्रेस प्रत्याशी नवीनचंद्र बांदीवडेकर। यह तस्वीर आतंकी गतिविधियों में गिरफ्तार वैभव राउत के समर्थन वाली कही जा रही है। (फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट्र के रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी नवीनचंद्र बांदावडेकर पर टिकट कटने का खतरा मंडराने लगा है।  लोकसभा सीट से टिकट कटने का खतरा मंडराने लगा है। इसकी वजह है उनका सितंबर 2018 में सनातन संस्था के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेना और उसका समर्थन करना। गुरुवार को इस कार्यक्रम की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जैसे ही वायरल हुई उनके चुनाव लड़ने की संभावनाओं पर असमंजस की स्थिति बन गई। मंगलवार को ही कांग्रेस ने बांदीवडेकर को चुनाव मैदान में उतारने का ऐलान किया था।

वायरल हो रही तस्वीर में देखा जा सकता है कि महाराष्ट्र में (2018) आतंकी साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार वैभव राउत के साथ बांदीवडेकर खड़े हैं और उसका समर्थन कर रहे हैं। तस्वीर के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता जितेंद्र अवहद ने इसे ट्वीट करते हुए कांग्रेस से उम्मीदवार बदलने के लिए कहा।

हालांकि, कांग्रेस ने बांदीवडेकर का बचाव किया है। पार्टी द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, “उन्होंने ना तो सनातन संस्था के कार्यक्रम में हिस्सा लिया है और ना ही उनका उसके प्रति कोई सहानुभूति है। चूंकि भंडारी समाज के अध्यक्ष के रूप में पुलिस द्वारा कथित तौर पर पूर्व निर्धारित कार्रवाई के संबंध में अफवाहों को देखते हुए समुदाय से दबाव था, इसलिए वह पूछताछ करने के लिए गए थे।” बयान में आगे कहा गया है, “उन्होंने कानून के अनुसार कार्रवाई की मांग की थी। उन्होंने स्पष्ट किया है कि यह अफवाहों को लेकर शुरुआती प्रतिक्रिया थी और यह प्रतिक्रिया उनकी नहीं बल्कि समुदाय की थी। इसके अलावा, यह केवल उचित कार्रवाई की मांग से संबंधित था। वास्तविकता को समझने के बाद, यह मुद्दा खत्म हो गया।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: अशोक गहलोत का RSS पर वार, कहा- संगठन या तो अपनी पार्टी बना ले या फिर बीजेपी में शामिल हो जाए
2 Lok Sabha Election 2019: हरियाणा में इज्जत बचाने के लिए कांग्रेस ने बनाया है यह प्लान
3 BJP Candidates First List: बिहार के सभी नाम तय, ऐलान जल्द, यूपी में कटा 6 सांसदों का पत्ता