ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: पश्चिम बंगाल में बीजेपी को नहीं मिल रहे प्रत्याशी! यूं बन रहा मजाक

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): वायरल तस्वीर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिखाया गया है। वे गाय को ले जाते दिख रहे हैं जिसके साथ बांग्ला में एक मैसेज लिखा है 'चॉल तोरे लोकसभाये बीजेपी प्राथी कोरबो।'

Author Published on: March 26, 2019 12:11 AM
पश्चिम बंगाल में वायरल हो रही यह फोटो (सोर्सः @iindrojit)

Lok Sabha Election 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी का पश्चिम बंगाल पर खास फोकस बताया जा रहा है। लेकिन यहां की दीवारों पर बीजेपी का मजाक उड़ाने वाले चित्र बनाए जा रहे हैं। यह तस्वीर अब सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी राज्य की 42 सीटों पर चुनाव लड़ाने के लिए प्रत्याशियों की कमी से जूझ रही है। वायरल फोटो में इसी बात को लेकर तंज कसा जा रहा है।

क्या है इस तस्वीर मेंः वायरल तस्वीर में कथित तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिखाया गया है। वे गाय को ले जाते दिख रहे हैं जिसके साथ बांग्ला में एक मैसेज लिखा है ‘चॉल तोरे लोकसभाये बीजेपी प्राथी कोरबो’ इसका मतलब है ‘आओ तुम्हें लोकसभा चुनाव में बीजेपी का प्रत्याशी बनाते हैं।’ राज्य में लोकसभा चुनाव से पहले यह मैसेज खासा वायरल हो रहा है। हालांकि अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि ये चित्र बनवाए किसने हैं।

अब तक घोषित 29 में से 25 चेहरे नएः उल्लेखनीय है कि बीजेपी ने अब तक राज्य में 29 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं, लेकिन बची 13 सीटों के लिए पार्टी को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। गौरतलब है कि अब तक घोषित 29 प्रत्याशियों में से 25 चेहरे नए हैं। बीजेपी ने करीब दो महीने चले एक आंतरिक सर्वे के बाद प्रत्याशियों का चयन किया है। दूसरी तरफ ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस सभी 42 सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी हैं।

National Hindi News Today Live: पढ़ें आज के बड़े अपडेट्स

 

पश्चिम बंगाल में बीजेपी की महिला मोर्चा अध्यक्ष लॉकेट चटर्जी बीरभूम से चुनाव लड़ना चाहती थीं लेकिन उन्हें सर्वे के आधार पर हुगली से टिकट दिया गया। इसी तरह दूध कुमार मंडल को भी पार्टी ने टिकट दिया था। इससे पहले उन्होंने खुद को बीजेपी से अलग कर लिया था। रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है प्रत्याशी चयन का लीक से हटकर चुना गया तरीका बीजेपी के लिए फायदे से ज्यादा नुकसान का कारण बन सकता है। स्थानीय नेता चयन प्रक्रिया से खुश नहीं बताए जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: योगी बोले- खेतों में टाइल्स लगाकर किसानों को तबाह करना चाहते हैं राहुल गांधी, तबाही का नाम ही कांग्रेस है
2 जम्मू: मोदी की रैली के लिए खेतों से काट डाली फसल, अभी गेहूं के दाने भी ठीक से नहीं पके थे
3 Lok Sabha Election 2019: यूपी में अधिक सीटों के लिए अड़ा बीजेपी का यह सहयोगी दल, 26 मार्च तक का अल्टीमेटम