Himachal Pradesh Election Chunav Result 2017, Himachal Pradesh Vidhan Sabha Chunav Election Parinam Natije Result 2017 Live Updates: Rahul Gandhi Congress, Narendra Modi BJP Who will HP - हिमाचल प्रदेश चुनाव नतीजे 2017 LIVE: BJP ने कांग्रेस के गढ़ में लगाई सेंध, देखें लेटेस्‍ट नतीजे - Jansatta
ताज़ा खबर
 

हिमाचल प्रदेश चुनाव नतीजे 2017: कांग्रेस के गढ़ में लगाई सेंध, बीजेपी ने हासिल किया स्पष्ट बहुमत

Himachal Pradesh Election Chunav Result 2017 (हिमाचल प्रदेश विधानसभा इलेक्शन चुनाव परिणाम 2017): हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 7 जनवरी 2018 को खत्म हो रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ प्रेम कुमार धूमल। धूमल सुजानपुर से चुनाव हार गए हैं। (File Photo/Facebook)

Himachal Pradesh Election Chunav Result 2017: हिमाचल प्रदेश भी अब उन राज्यों में शामिल हो जाएगा, जहां बीजेपी का शासन होगा। सोमवार को हुई मतगणना के बाद बीजेपी ने बड़ी आसानी से बहुमत हासिल कर लिया। रुझान और जीते गए सीटों को जोड़ दें तो 44 जबकि कांग्रेस के 21 सीटें जीतने की संभावना है। 3 सीटें अन्य के खाते में गई है। बीजेपी की इस जीत का स्वाद कड़वा करने वाली बात रही उसके सीएम प्रत्याशी प्रेम कुमार धूमल की हार। धूमल सुजानपुर सीट से चुनाव हार गए हैं। ऐसे में बीजेपी को अब नया सीएम प्रत्याशी ढूंढना होगा। हिमाचल बीजेपी के अध्यक्ष सतपाल सत्ती भी चुनाव हार गए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो 2012 में कांग्रेस ने 36 सीटें जीतीं, जबकि भाजपा को 26 सीटों से संतोष करना पड़ा, वहीं छह सीटें निर्दलीय नेताओं के हाथ लगीं। साल 2012 के चुनाव में अपमानजनक हार का सामने करने के बाद भाजपा राज्य में वापसी करने की पुरजोर कोशिश की। इस पार्टी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई रैलियां कीं।

किस सीट पर मिली किसे जीत, जानने के लिए क्लिक करें

Here’s Himachal Pradesh Election Chunav Result 2017 Updates:

–  शिमला सीट पर बीजेपी को जीत हासिल हुई है। इस सीट पर बीजेपी के सुरेश भारद्वाज ने निर्दलीय हरीश जनार्था को 1903 वोटों से हराया है।

–  हिमाचल प्रदेश के अन्नी सीट पर बीजेपी कैंडिडेट किशोरी लाल ने कांग्रेस के पारस राम से 5983 वोटों से जीत हासिल की है।

–  सुजानपुर सीट से प्रेम कुमार धूमल 2800 वोटों से पीछे चल रहे हैं। कांग्रेस उम्मीदवार राजिन्दर राणा यहां लगातार बढ़त बनाए हुए हैं।

यहां जानिए गुजरात के नतीजे सबसे तेज

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी के लिए मुश्किल ये है कि सीएम कैंडिडेट प्रेम कुमार धूमल पिछले साढ़े तीन घंटों से लगातार पीछे चल रहे हैं। धूमल हिमाचल प्रदेश की सुजानपुर सीट से कांग्रेस राजिन्दर राणा से इस वक्त 1371 वोटों से पीछे चल रहे हैं।

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी की स्पष्ट बढ़त के साथ ही पार्टी ऑफिस में जश्न का दौर शुरू हो गया है। पार्टी कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी शुरू कर दी है। हिमाचल में सरकार बनाने के लिए बीजेपी को 35 सीटों की जरूरत है, बीजेपी इस वक्त 45 सीटों पर आगे चल रही है।

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है बीजेपी अब यहां 45 सीटों पर आगे है जबकि कांग्रेस 19 सीटों पर आगे है

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी अब 44 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि कांग्रेस की बढ़त मात्र 22 सीटों पर रह गई है।

–  हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की पहली जीत, कसुमपति सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार अनिरुद्ध सिंह ने जीत हासिल की। बीजेपी के विजय ज्योति को 9,397 वोटों से हराया

– हिमाचल प्रदेश में बीजेपी के सीएम कैंडिडेट प्रेम कुमार धूमल पिछले 3 घंटों से लगातार पीछे चल रहे हैं। धूमल हिमाचल प्रदेश की सुजानपुर सीट से कांग्रेस राजिन्दर राणा से इस वक्त 670 वोटों से पीछे चल रहे हैं।

–  डलहौजी सीट से कांग्रेस की आशा कुमारी बीजेपी के डीएस ठाकुर से 1000 वोटों से आगे चल रही हैं।

–  ताजा अपडेट के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में अब बीजेपी 42 सीटों पर आगे है और कांग्रेस 22 सीटों पर लीड बनाये हुए है।

–  शिमला सीट से बीजेपी के सुरेश भारद्वाज 1000 वोटों से आगे चल रहे हैं।

–  शिमला ग्रामीण सीट से सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह अपने निकटत्तम प्रतिद्वंदी बीजेपी के डॉ प्रमोद शर्मा से 1608 वोटों से आगे चल रहे हैं।

–  हिमाचल प्रदेश के थियोग सीट से Communist Party of India (Marxist) के राकेश सिंगा साढ़े चार हजार वोटों से आगे चल रहे हैं।

– हिमाचल प्रदेश में बीजेपी का आंकड़ा बढ़कर 42 हो गया है, जबकि कांग्रेस 23 सीटों पर आगे है।

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी को अबतक 49.5 परसेंट वोट, जबकि कांग्रेस को 42.3 परसेंट वोट मिले हैं।

–  हिमाचल प्रदेश में इस वक्त बीजेपी 41 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि कांग्रेस 22 सीटों पर आगे है

–  शिमला ग्रामीण सीट पर सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह बीजेपी के डॉ प्रमोद शर्मा से 1545 वोटों से आगे चल रहे हैं।

–  हिमाचल प्रदेश में इस वक्त बीजेपी 39 सीटों पर और कांग्रेस 26 सीटों पर आगे चल रही है। यहां सभी सीटों के रुझान आ चुके हैं।

–  हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम और बीजेपी उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर सीट पर अपने नजदीकी प्रतिद्वंदी से 1700 वोटों से पीछे चल रहे हैं।

– हिमाचल प्रदेश की अरकी सीट पर सीएम वीरभद्र सिंह अपने निकटतम प्रतिद्वंदी  बीजेपी के रतन सिंह पाल से 1933 वोटों से आगे चल रहे हैं।

–  हिमाचल प्रदेश में अब बीजेपी 39 सीटों पर और कांग्रेस 25 सीटों पर आगे चल रही है। यहां सभी सीटों के रुझान आ चुके हैं।

–  चुराह सीट से कांग्रेस के सुरिन्दर भारद्वाज बीजेपी के हंसराज से 2800 वोटों से पीछे चल रहे हैं।

–  शिमला ग्रामीण सीट से सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह बीजेपी के डॉ प्रमोद शर्मा से 1545 वोटों से आगे चल रहे हैं।

–  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी अब 40 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि 24 सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही है।

–  अरकी सीट पर सीएम वीरभद्र सिंह अपने निकटतम प्रतिद्वंदी  बीजेपी के रतन सिंह पाल से 1000 वोटों से आगे चल रहे हैं।

-प्रेम कुमार धूमल 1700 वोटों से पिछड़े

-बीजेपी- 41 , कांग्रेस -23 सीटों पर आगे

-अरकी सीट से सीएम वीरभद्र सिंह आगे

-सुजानपुर सीट से पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल पीछे

-नादौन सीट से सुखविंदर सिंह सुक्खू 1800 वोटों से आगे

-बीजेपी 40, कांग्रेस -24 सीटों पर आगे

-सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से 1300 वोट से आगे

-बीजेपी- 41, कांग्रेस -24 सीट पर आगे

-बीजेपी-41, कांग्रेस 25 सीटों पर आगे

-हिमाचल प्रदेश में सभी सोटों के रुझान आए

-डलहौजी सीट से कांग्रेस की आशा कुमार आगे

-बीजेपी-41, कांग्रेस- 25 सीटों पर आगे

 

– इस चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार दोनों बुजुर्ग चेहरों के लिए ‘करो या मरो’ की स्थिति रही। वीरभद्र (80) और धूमल (73) दोनों ने जनता को रिझाने के लिए अपनी तरफ से कड़ी मेहनत की।

– मतगणना सुबह 8 बजे शुरू होगी। साल 2012 के चुनाव में अपमानजनक हार का सामने करने के बाद भाजपा राज्य में वापसी करने की पुरजोर कोशिश कर रही है। इस पार्टी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई रैलियां कीं। वहीं, कांग्रेस को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में 2012 की जीत दोहराने की उम्मीद है।

– इस चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार दोनों बुजुर्ग चेहरों के लिए ‘करो या मरो’ की स्थिति रही। वीरभद्र (80) और धूमल (73) दोनों ने जनता को रिझाने के लिए अपनी तरफ से कड़ी मेहनत की। इस बार वीरभद्र दो मोर्चो पर लड़ रहे हैं। एक तरफ जहां वह अपने बेटे विक्रमादित्य सिंह को राजनीति में स्थापित करना चाहते हैं, वहीं दूसरी ओर उन्हें अपनी जीत को दोहराना है, क्योंकि सभी बाधाओं के बावजूद उन्होंने पार्टी को उन्हें (वीरभद्र) मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने के लिए मजबूर किया। वीरभद्र और धूमल दोनों ही नई सीटों से फिर चुने जाने की आस में हैं।

– नौ नवंबर को हुए मतदान में 50,25,941 मतदान करने योग्य लोगों में से कुल 37,83,580 लोगों ने मतदान किया था। कुल 75.28 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस चुनाव में मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने अपने 14 उम्मीदवार उतारे। कई निर्दलीय भी चुनाव मैदान में उतरे। हिमाचल प्रदेश में अभी कांग्रेस के पास 35, भारतीय जनता पार्टी के पास 28 और अन्य के पास 4 सीटें है। वहीं एक सीट अभी खाली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App