ताज़ा खबर
 

Sapna Choudhary Joins Congress: पिता की मौत के बाद टूटा था इंस्पेक्टर बनने का ‘सपना’, आज करोड़ों दिलों की धड़कन

सपना चौधरी खुद कहती हैं, ‘‘मैं इंस्पेक्टर बनना चाहती थी, लेकिन मेरा यह सपना पूरा नहीं हो सका। मुझे नाचने-गाने का शौक है, लेकिन यही मेरा करियर बन जाएगा, यह नहीं सोचा था।’’

सपना चौधरी। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

मशहूर डांसर सपना चौधरी ने कांग्रेस में शामिल होने के साथ ही सियासी मैदान में कदम रख दिया है। हालांकि, उन्होंने कभी नेता बनने के सपने नहीं देखे थे। वे पुलिस इंस्पेक्टर बनना चाहती थीं, लेकिन पिता की मौत से उनका यह ‘सपना’ टूट गया था। इसके बावजूद वे करोड़ों दिलों की धड़कन बन गईं।

बिग बॉस ने बदल दी किस्मत : बिग बॉस-11 में धमाल मचाने के बाद सपना चौधरी ने बॉलीवुड में कदम रखा और जमकर वाहवाही लूटी। सपना चौधरी खुद कहती हैं, ‘‘मैं इंस्पेक्टर बनना चाहती थी, लेकिन मेरा यह सपना पूरा नहीं हो सका। मुझे नाचने-गाने का शौक है, लेकिन यही मेरा करियर बन जाएगा, यह नहीं सोचा था।’’

National Hindi News Today Live: दिनभर की बड़ी खबरें यहां पढ़ें

3100 रुपए में करती थीं स्टेज शो : सपना महज 12 साल की थीं, जब उनके पिता की मौत हो गई थी। उन्होंने अपने दम पर मां, भाई और बहन का पालन-पोषण किया। किसी जमाने में सपना महज 3100 रुपए में स्टेज शो करती थीं, लेकिन उनकी जिंदगी में एक दौर ऐसा भी आया कि लाखों लोग उनकी एक झलक पाने के लिए बेकरार रहने लगे।

मां व भाई-बहन को खुद संभाला : हरियाणा के रोहतक जिले के नजफगढ़ कस्बे में 25 सितंबर 1990 को सपना चौधरी का जन्म हुआ था। उनकी शुरुआती पढ़ाई रोहतक में ही हुई। सपना के पिता रोहतक में ही एक कंपनी में काम करते थे। 2008 में पिता की मौत हुई तो सपना महज 12 साल की थीं। इसके बाद सपना ने अपनी मां नीलम और भाई-बहनों की जिम्मेदारी खुद संभाल ली। घर चलाने के लिए सपना चौधरी ने सिंगिंग और डांस को अपना करियर बना लिया।

एक महीने में 30-35 प्रोग्राम करती थीं सपना : बता दें कि सपना चौधरी ने अपने डांस करियर की मदद से अपने घरवालों को पाला। साथ ही, बड़ी बहन की शादी भी की। सपना का पहला प्रोग्राम 10 दिसंबर 2012 को कैथल जिले के पुंडरी में हुआ था, लेकिन उन्हें कुछ हासिल नहीं मिला। अपने दूसरे प्रोग्राम में सपना ने 3100 रुपए कमाए थे। उस दौर में सपना को हर महीने 30 से 35 प्रोग्राम करने पड़ते थे, जिसके बाद उनका घर चल पाता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App