ताज़ा खबर
 

Election 2019: काशी के ज्योतिषियों का दावा- पूर्ण बहुमत की बनेगी सरकार, यह हो सकते हैं नए प्रधानमंत्री

देश के अगले प्रधानमंत्री के बारे में काशी के विद्वान अलग ही राय दे रहे हैं। उनकी राय में जो भी सरकार आएगी, वह पूर्ण बहुमत वाली होगी। वहीं, कुछ विद्वानों ने ग्रह चाल के चलते उलटफेर होने की आशंका भी जताई है।

Author वाराणसी | May 22, 2019 7:58 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी।

Election 2019: सियासी घमासान, अंधाधुंध प्रचार, धुंआधार आरोप-प्रत्यारोप के बाद एग्जिट पोल्स के नतीजे आ गए हैं। ज्यादातर एग्जिट पोल्स में बीजेपी नेतृत्व वाली एनडीए की सत्ता में दुबारा वापसी की बात कही जा रही है। यह दीगर है कि यह फैसला उन्हें 23 मई को सुनाया जाएगा। इस बीच पूरे देश के लिए हॉट सीट में शुमार और प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र बनारस का जिक्र न हो, ऐसा कैसे हो सकता है। भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले वाराणसी को लेकर राजनीतिक पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया है। बीजेपी के अलावा सपा-बसपा गठबंधन, कांग्रेस दोनों ही अपने जीत के दावे कर रहे हैं। हालांकि, काशी के विद्वान अलग ही राय दे रहे हैं। उनकी राय में जो भी सरकार आएगी, वह पूर्ण बहुमत वाली होगी। वहीं, कुछ विद्वानों ने ग्रह चाल के चलते उलटफेर होने की आशंका भी जताई है।

पूर्ण बहुमत की बनेगी सरकार: काशी हिंदू विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर और काशी विद्वत परिषद के संचालन समिति के सदस्य डॉ. राम नारायण द्विवेदी के मुताबिक, ‘‘इस समय ग्रहों की चाल एक ही संकेत दे रही है कि जो भी दल सरकार बनाएगा, वह पूर्ण बहुमत लेकर आएगा। उसको जनता का पूरा आशीर्वाद मिलेगा। आने वाले 5 साल भारत को विश्व गुरु बनाने की दिशा काफी महत्वपूर्ण साबित होंगे। कई मूलभूत समस्याओं से लोगो को मुक्ति मिलेगी और देश आर्थिक रूप से समृद्ध बनेगा।’’

National Hindi News, 22 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पीएम की कुंडली में होगा यह योग: प्रख्यात ज्योतिष और कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित राकेश तिवारी ने बताया कि देश की सरकार चलाने वाले का भाग्य बहुत ही प्रबल होगा। उसके लग्न में केतु होगा। वहीं, ब्रज केसरी योग होगा। वह अपने विपक्षियों को परास्त करेगा। देश के लिए मजबूत निर्णय लेगा। हर वर्ग की फिक्र उसके निर्णयों में दिखाई देगी।

काशी में चल रहे अनुष्ठान और टोने-टोटके: धर्म नगरी काशी में इस समय देश की सत्ता के लिए अनुष्ठानों से लेकर टोने व टोटके की होड़ मची हुई है। यहां छोटे-बड़े दर्जनों मंदिरों में देश के कई प्रत्याशियों के लिए पूजन व अनुष्ठान जारी है। इसके लिए पंडितों को पूरा पैकेज दिया गया है। उम्मीदवारों ने पंडितों को आश्वस्त भी किया है कि उनकी जीत हो या हार, वह दान-दक्षिणा में किसी भी तरह की कोई कमी नही रखेंगे। गौर करने वाले बात यह है कि इसमें कोई भी दल पीछे नही है। यही वजह है कि सुबह से लेकर शाम तक काशी के मंदिरों में दर्शन-पूजन का सिलसिला चल रहा है। इसकी पूर्णाहुति 23 मई को दी जाएगी।

ऐसे कपड़े पहनें और इस दिशा में न जाएं: सुनने में यह अजीब लगेगा, लेकिन है सौ फीसदी सच। चुनाव में अपनी जीत और विपक्षी उम्मीदवार को हराने के लिए कई प्रत्याशी प्रचार के बाद टोने-टोटके में इतने व्यस्त हो गए है कि उन्होंने अपना फोन भी ‘साइलेंट मोड’ पर कर दिया है। अपने कुल पुरोहित और पंडित से वे लगातार सम्पर्क में हैं। वहीं, उनके कहे अनुसार कपड़े का रंग समेत बाकी गतिविधियां तय कर रहे हैं।

23 मई का योग दे सकता है दिक्कत: ज्योतिषी विमल जैन की मानें तो 23 मई यानी गुरुवार को मतगणना के वक्त उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और बुधादित्य योग का प्रभाव पूरे दिन रहेगा। सूर्य, चंद्रमा और केतु धनु राशि में तो गुरु बृहस्पति पीएम नरेंद्र मोदी की वृश्चिक राशि में होंगे। इस बीच दिन के समय चंद्रमा के धनु से मकर राशि में स्थान परिवर्तन से ठीक उसी तरह चुनाव परिणाम पर असर पड़ेगा जैसे विभिन्न राशियों के लोगों के जीवन पर प्रभाव पड़ता है। ग्रहों के चलते सारे अनुमान धरे रह जाएंगे। परिणाम अस्थिर सरकार का संकेत देंगे, लेकिन जोड़-तोड़ से बनने वाली सरकार कार्यकाल पूरा करेगी। जिसने भी एकाधिकार की उम्मीद लगाई होगी, उसे मायूसी हाथ लगेगी। (वाराणसी से सुरेंद्र तिवारी की रिपोर्ट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X