ताज़ा खबर
 

AAP ने किया भाजपा के घोषणा पत्र को जलाने का ऐलान, जवाब में BJP जलाएगी केजरीवाल के वादों की होली

आम आदमी पार्टी बुधवार को बीजेपी का 2014 का घोषणा पत्र जलाने जा रही है, तो वहीं बोजेपी अरविंद केजरीवाल के वादों की होली जलाएगी।

विजय गोयल और अरविंद केजरीवाल फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

आगामी लोकसभा चुनाव के पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर सियासत गरमाई हुई है। बुधवार (13 मार्च) को जहां आम आदमी पार्टी (आप) बीजेपी का 2014 का घोषणा पत्र जलाने जा रही है, तो वहीं बोजेपी अरविंद केजरीवाल के वादों की होली जलाएगी। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद विजय गोयल ने कहा है कि बीजेपी दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य का दर्जा चाहती है, लेकिन केजरीवाल जैसे अराजकतावादी सीएम होने के कारण ये संभव नहीं है।

आप और बीजेपी आमने-सामने: दरअसल, दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप काफी समय से दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग कर रही है। इसके लिए पार्टी ने हाल ही में कांग्रेस और बीजेपी दफ्तर का घेराव भी किया था। इसके चलते सियासत काफी गरम है। इस बीच केजरीवाल की पार्टी आज बीजेपी के घोषणा पत्र को डीडीयू मार्ग पर जलाने जा रही है और इसके जवाब में बीजेपी जंतर-मंतर पर ‘आप’ के वादों की होली जलाएगी।

केजरीवाल पर बोले विजय गोयल: विजय गोयल ने कहा कि हमारी पार्टी भी चाहती है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाए लेकिन जब तक केजरीवाल जैसे ‘अराजकतावादी’ सीएम हैं, तब तक पूर्ण राज्य का दर्जा बिल्कुल भी नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया अगर दिल्ली को पूर्ण राज्य दर्जा मिल गया तो वे अपने अधिकारों का दुरूपयोग करेंगे।

क्या बोले मनोज तिवारी: दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल को अगर पूर्ण राज्य मिल गया तो अनर्थ हो जाएगा। जो व्यक्ति गणतंत्र दिवस की परेड रोकने के लिए धरना दे सकता है सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ धरने की बात करे वो कोई सिरफिरा ही हो सकता है। उन्होंने केजरीवाल को सबसे बड़ा झूठा करार दिया।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: मोदी सरकार के खिलाफ लामबंद हुए मुस्लिम धर्मगुरु और नेता, कहा- साथ आएं सेक्युलर ताकतें
2 Lok Sabha Election 2019: पहले कहा नहीं मिलेगा टिकट, फिर उसी के लिए चुनाव से क्यों बाहर हुए शरद पवार? जानिए
3 शरद पवार बोले- बीजेपी हो सकती है सबसे बड़ी पार्टी लेकिन मोदी नहीं बनेंगे दोबारा पीएम
ये पढ़ा क्या?
X