ताज़ा खबर
 

कर्नाटक चुनाव: कांग्रेस ने विधायकों को फिर भेजा रिजॉर्ट, कहा- हमारे विधायकों का ‘शिकार’ कर रही बीजेपी

विधायकों को खोने के डर से परेशान कांग्रेस ने उन्हें बेंगलुरु के नजदीक स्थित ईगलटन गोल्फ रिजॉर्ट पहुंचाया। यह वही रिजॉर्ट है, जहां इससे पहले गुजरात के कांग्रेसी विधायक ठहराए जा चुके हैं। एक स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शर्मा ट्रैवल्स की दो बसें बुधवार दोपहर कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमिटी के दफ्तर पहुंच गईं।

Author Updated: May 17, 2018 1:09 PM
अपने विधायकों के टूटने की आशंका से ग्रस्त पार्टी ने तुरत-फुरत में उन्हें बसों में बिठाकर बेंगलुरु के नजदीक एक प्राइवेट रिजॉट में पहुंचाया। हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं है, जब कांग्रेस को ऐहतियातन यह कदम उठाना पड़ा हो। (फोटो सोर्स eagletonindia.com)

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मंगलवार को आए नतीजों के बाद बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। बुधवार को राज्य के गवर्नर ने जैसे ही बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिया, कांग्रेस बचाव के मुद्रा में आ गई। अपने विधायकों के टूटने की आशंका से ग्रस्त पार्टी ने तुरत-फुरत में उन्हें बसों में बिठाकर बेंगलुरु के नजदीक एक प्राइवेट रिजॉट में पहुंचाया। हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं है, जब कांग्रेस को ऐहतियातन यह कदम उठाना पड़ा हो। गुजरात राज्य सभा चुनाव में पार्टी ने अपने विधायकों को कर्नाटक के रिजॉर्ट भेज दिया था। बता दें कि गवर्नर ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया है। बीजेपी बहुमत के आंकड़े के बेहद नजदीक है। ऐसे में कांग्रेस को डर है कि उसके विधायकों में सेंध लग सकती है।

विधायकों को खोने के डर से परेशान कांग्रेस ने उन्हें बेंगलुरु के नजदीक स्थित ईगलटन गोल्फ रिजॉर्ट पहुंचाया। यह वही रिजॉर्ट है, जहां इससे पहले गुजरात के कांग्रेसी विधायक ठहराए जा चुके हैं। एक स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शर्मा ट्रैवल्स की दो बसें बुधवार दोपहर कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमिटी के दफ्तर पहुंच गईं। दिन-भर चली थकाऊ बैठकों के बाद शाम को विधायकों को बस में बिठाकर ईगलटन रिजॉर्ट पहुंचाया गया। कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार दूसरी बस में चढ़े। उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि सभी विधायक बस में सवार रहें। हालांकि, शाम 7 बजे बस के रवाना होने तक कांग्रेस के 78 में से चार विधायक नहीं पहुंचे थे। वहीं, कांग्रेस ने भरोसा जताया कि इन चार में से दो जरूर उपस्थित हो जाएंगे।

इससे पहले, बुधवार सुबह पार्टी बैठक से ऐन पहले तीन कांग्रेस विधायकों के ‘लापता’ होने की खबरें आई थीं। बता दें कि मंगलवार को आए नतीजों में बीजेपी को कुल 104 सीटें मिली हैं। पार्टी को एक निर्दलीय विधायक का भी समर्थन हासिल है। वहीं, कांग्रेस महज 78 विधायकों तक सीमित रही। हालांकि, मामला बिगड़ता देख कांग्रेस ने देरी नहीं की और उन्हें 38 सीट जीतने वाली जेडीएस को समर्थन देने का ऐलान करते हुए एचडी कुमारस्वामी को सीएम पद ऑफर कर दिया। हालांकि, गवर्नर द्वारा बीजेपी को न्योता देने के बाद से कांग्रेस और जेडीएस दोनों ही अपने विधायकों को टूटने से बचाने में लग गए हैं। बीजेपी को बहुमत का आंकड़ा छूने के लिए कम से कम 7 विधायकों की जरूरत है। कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार रेड्डी ने कहा,’ वे (बीजेपी) हमारे विधायकों में सेंधमारी कर रहे हैं और हम यह बात जानते हैं।’ हालांकि, शिवकुमार ने यह भरोसा जताया कि दोनों पार्टियों के पास जरूरी संख्याबल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Karnataka Election 2018: येदियुरप्‍पा बने सीएम, बहुमत साबित न होने पर राष्‍ट्रपति शासन की अटकल, राहुल बोले- संविधान पर हमला
2 West Bengal Panchayat, Zilla Parishad, Gram Panchayat Election Result 2018 Counting Online: 9270 सीटों पर TMC का कब्जा, लेफ्ट से बहुत आगे निकली भाजपा
3 West Bengal Zilla Parishad, Panchayat, Gram Panchayat Election Result 2018: यहां जानें कब आएंगे पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव के परिणाम
जस्‍ट नाउ
X