ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: इस फार्मूले पर होगा कुमारस्वामी मंत्रिमंडल का गठन, जारी है बैठकों का दौर

जेडीएस नेता और भावी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सोमवार (21 मई) को नई दिल्ली आ रहे हैं। वो सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और मंत्रिमंडल में कांग्रेस विधायकों को शामिल करने पर चर्चा करेंगे।

16 मई को बैंगलुरु में राज्यपाल वजुभाई वाला से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद मीडिया से बात करते जेडीएस अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी (बीच में) (फोटो-पीटीआई)

कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के नेता एचडी कुमारस्वामी बुधवार (23 मई) को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। माना जा रहा है कि उनके साथ 33 मंत्री भी शपथ ग्रहण करेंगे। इनमें से 20 मंत्री कांग्रेस की तरफ से और 13 मंत्री जेडीएस की तरफ से शामिल होंगे लेकिन इस मंत्रिमंडल में कौन-कौन चेहरा शामिल होगा, इस पर अभी कयासों का दौर जारी है। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी परमेश्वर उप मुख्यमंत्री हो सकते हैं, वो दलित चेहरे हैं। पार्टी किसी दलित को सीएम बनाना चाहती थी लेकिन बदली स्थितियों में उप मुख्यमंत्री बना सकती है जबकि कांग्रेस के सबसे धनी विधायक और बहुमत परीक्षण के दौरान सक्रिय रहे डी के शिवकुमार फिर से ऊर्जा मंत्री बनाए जा सकते है। सिद्धारमैया सरकार में भी शिवकुमार ऊर्जा मंत्री थे।

इधर, कांग्रेस के दो बड़े नेताओं महासचिव गुलाम नबी आजाद और अशोक गहलोत इसी मुद्दे पर पार्टी आलाकमान से चर्चा करने के लिए आज बेंगलुरु से नई दिल्ली पहुंचे। सूत्र बता रहे हैं कि इन दोनों नेताओं ने आज सोनिया गांधी और राहुल गांधी से कर्नाटक के मंत्रिमंडल गठन पर चर्चा की और कई नामों पर विचार किया। सूत्र बता रहे हैं कि नाराज चल रहे विधायकों को मंत्री पद दिया जा सकता है। बता दें कि विश्वास मत परीक्षण के दौरान ऐसी खबरें आई थीं कि कांग्रेस के दो विधायक प्रताप गौड़ा और आनंद सिंह नाराज हैं। वे दोनों काफी देर से विधान सभा पहुंचे थे।

जेडीएस नेता और भावी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सोमवार (21 मई) को नई दिल्ली आ रहे हैं। वो सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और मंत्रिमंडल में कांग्रेस विधायकों को शामिल करने पर चर्चा करेंगे। मुख्यमंत्री वित्त मंत्रालय अपने पास ही रखेंगे। सूत्र बता रहे हैं कि जेडीएस भी अपने दो नाराज विधायकों को मंत्री बना सकती है। हालांकि मुख्यमंत्री ने उन अटकलों को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि दोनों पार्टियां 30-30 महीने के फार्मूले पर सरकार चलाएंगी। बता दें कि कर्नाटक विधानसभा की कुल सदस्य संख्या 225 है। इस लिहाज से राज्य में मंत्रियों की संख्या मुख्यमंत्री समेत अधिकतम 33 हो सकती है। हालिया चुनावों में बीजेपी को 104 सीटें मिली हैं जबकि कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37 सीटें मिली हैं। एक बीएसपी और दो निर्दलीयों ने भी जीत दर्ज की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App