ताज़ा खबर
 

कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: आपातकाल के बाद जहां बची थी इंदिरा की साख, कांग्रेस ने वह सीट भी गंवाई

Karnataka Chunav Election Results 2018, Karnataka Vidhan Sabha Chunav Results 2018 (कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम 2018): आपातकाल के बाद हुए चुनावों में इंदिरा गांधी अपनी परंपरागत सीट राय बरेली से चुनाव हार गई थीं। इसके बाद उन्‍होंने चिकमंगलूर से उपचुनाव लड़कर लोकसभा में वापसी की थी। चुनाव अभियान के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इसका उल्‍लेख किया था। इसके बावजूद यहां से भाजपा प्रत्‍याशी चुनाव जीतने में सफल रहे।

Katnataka Election Results 2018: कर्नाटक विधान सभा में 224 में से 36 सीटें अनुसूचित जाति और 15 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।

कर्नाटक में तकरीबन तीन दशकों से कोई भी पार्टी लगातार दो कार्यकाल के लिए सत्‍ता में नहीं आई है। ऐसे में कांग्रेस के हाथ से राज्‍य की सत्‍ता जाना अप्रत्‍याशित नहीं है। लेकिन, इस बार के विधानसभा चुनाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के बीच सीधी टक्‍कर करार दिया गया था। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस के लिए यह चुनाव प्रतिष्‍ठा का विषय बन गया था। खासकर चिकमंगलूर जिला दोनों दलों के लिए बेहद महत्‍वपूर्ण हो गया था। आपातकाल के बाद इंदिरा गांधी राय बरेली से चुनाव हार गई थीं। ऐसे में कांग्रेस की खोई प्रतिष्‍ठा को वापस लाने और इंदिरा को लोकसभा भेजने के लिए सुरक्षित क्षेत्र की तलाश की जाने लगी थी। काफी सोच-विचार के बाद कॉफी की पैदावार के लिए मशहूर चिकमंगलूर का चयन किया गया था।

इंदिरा वर्ष 1978 में यहां से चुनाव लड़कर लोकसभा पहुंची थीं। इसके साथ ही कांग्रेस का भी पुनरुत्‍थान हुआ था। नरेंद्र मोदी के उदय के बाद कांग्रेस एक बार फिर से संकट में है। वर्ष 2014 के बाद से पार्टी एक के बाद एक लगातार चुनाव हार रही है। ऐसे में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी चिकमंगलूर का दौरा कर चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्‍होंने वहां की जनता को अपनी दादी इंदिरा गांधी की याद दिलाते हुए वोट मांगा था। इसके बावजूद जनता ने कांग्रेस को अपना ‘आशीर्वाद’ नहीं दिया। भाजपा वर्ष 2004 से ही चिकमंगलूर विधानसभा सीट जीतती आ रही है।

यहा देखें कर्नाटक चुनाव के लाइव अपडेट्स।

चुनाव प्रचार में राहुल ने किया था दादी को याद: कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने मार्च में चिकमंगूलर का चुनावी दौरा किया था। उन्‍होंने जनसभा को संबोधित करने के साथ स्‍थानीय मंदिर में भी गए थे। राहुल ने कहा था, ‘आपलोगों ने मेरी दादी का उस वक्‍त समर्थन‍ किया था, जब उन्‍हें इसकी सबसे ज्‍यादा जरूरत थी। मैं इसे कभी नहीं भूल सकता हूं। आपलोगों को जब भी मेरी जरूरत होगी, मैं हमेशा आपके लिए उपलब्‍ध रहूंगा।’ इस रैली में कांग्रेस प्रमुख ने कहा था क‍ि पीएम मोदी के दिल में देश की जनता के लिए तनिक भी सम्‍मान नहीं है और वह वर्ष 2019 का चुनाव हारेंगे। हालांकि, राहुल का यह प्रयास विफल रहा और चिकमंगलूर सीट पर भाजपा ने एक बार फिर से कब्‍जा कर लिया। इसके साथ ही सिद्धारमैया के नेतृत्‍व में चुनाव मैदान में उतरी कांग्रेस भाजपा से पिछड़ गई।

Follow Jansatta Coverage on Karnataka Assembly Election Results 2018. For live coverage, live expert analysis and real-time interactive map, log on to Jansatta.com

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: बीजेपी को रोकने कांग्रेस ने चली चाल, सोनिया ने देवगौड़ा को दिया ये ऑफर
2 कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: कर्नाटक में हार पर कांग्रेस ने EVM पर उठाया सवाल, उमर अबदुल्ला ने पार्टी पर कसा तंज
3 कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: कर्नाटक बना राहुल की राह का रोड़ा, टूट सकता है पीएम बनने का सपना
आज का राशिफल
X