ताज़ा खबर
 

कर्नाटक चुनाव नतीजे 2018: जेडीएस के साथ आकर मायावती को हुआ फायदा, बसपा ने 25 सालों में जीती पहली सीट

Karnataka Chunav Election Results 2018, Karnataka Vidhan Sabha Chunav Results 2018 (कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम 2018): भाजपा कर्नाटक चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है लेकिन 224 सदस्यीय विधानसभा में जादुई आंकड़ा हासिल करने में विफल रही।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती। (Photo: Express Archive)

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के पहले जनता दल (सेक्‍युलर) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में गठजोड़ का मायावती की पार्टी को फायदा हुआ है। मंगलवार (15 मई) को आए नतीजों में बसपा कोल्‍लेगल सीट जीतने में कामयाब रही। पार्टी 25 सालों के बाद कर्नाटक में कोई सीट जीती है। इस गठजोड़ के चलते ही, न तो एचडी देवेगौड़ा और न ही उनके बेटे एचडी कुमारस्‍वामी ने भारतीय जनता पार्टी का प्रस्‍ताव स्‍वीकार किया। 2018 के नतीजों में भाजपा बहुमत के आंकड़े से दूर रह गई। राज्य विधानसभा चुनावों में जेडीएस 37 सीटों के साथ तीसरे नंबर की पार्टी बनी है।

बसपा ने एन महेश के रूप में कर्नाटक का पहला विधायक पाया। राज्‍य में आखिरी बार बसपा 1994 में जीती थी जब उसने बीदर पर कब्‍जा किया था। बसपा के लिए कोल्‍लेगल इस लिहाज से भी अहम है कि यहां पर 1 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रचार करने आए थे और राहुल गांधी पर हमला बोला था, मगर देवेगौड़ा की खूब तारीफ की थी। पुराने मैसूर में जेडीएस 27 सीटें जीती हैं। यहां वोक्‍कालिगा, दलितों और लिंगायतों का प्रभाव है। कांग्रेस को यहां 13 सीटें मिलीं जबकि भाजपा को सिर्फ 10 सीट हासिल हुईं।

बसपा के नवनिर्वाचित विधायक महेश ने टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, ”बीजेपी हमें लुभाने की कोशिश कर रही थी क्‍योंकि उन्‍हें पता था कि हम चमराजनगर की यह सीट जीत जाएंगे और पुराने मैसूर में जेडीएस की मदद कर उनकी सीट को नुकसान पहुंचाएंगे। मेरे और बसपा के लिए, यह हार का रिकॉर्ड रहा है और अब एक जीत। मैंने 2004 में चौथे नंबर के प्रत्‍याशी की तरह शुरुआत की थी, 2009 में तीसरे नंबर पर रहा, 2013 में दूसरे और अब आखिरकार मैं जीत गया। यह एक लड़ाई है जो हम दलितों ने बसपा के लिए इस राज्‍य में लड़ी है। हम खुश हैं कि बहनजी और देवेगौड़ा जी ने मिलकर दो समुदायों को बसपा-सपा की तरह जोड़ा।”

राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आनन-फानन में बने कांग्रेस व जेडीएस गठबंधन ने सरकार बनाने का दावा पेश किया है। भाजपा कर्नाटक चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है लेकिन 224 सदस्यीय विधानसभा में जादुई आंकड़ा हासिल करने में विफल रही। निर्वाचन आयोग के आंकड़े के मुताबिक, भाजपा 104 सीटों पर कब्‍जा कर सकी जो कि बहुमत से आठ सीट कम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App