ताज़ा खबर
 

सोनिया-राहुल गांधी से मिले कुमारस्‍वामी, मार्च में कांग्रेस को बताया था बीजेपी से खतरनाक

मंत्रिमंडल गठन से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि कर्नाटक कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल को पार्टी ने इस बारे में अधिकृत किया है। इसलिए विभागों के बंटवारे और उप मुख्यमंत्री के मुद्दे पर मंगलवार को उनसे बातचीत होगी।

Author Updated: May 21, 2018 8:20 PM
एचडी कुमारस्वामी ने नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की और 23 मई को अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया।

कर्नाटक के भावी मुख्यमंत्री और जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने आज (21 मई को) नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की और 23 मई को अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया। कांग्रेस नेताओं से मिलने के बाद कुमारस्वामी ने बताया कि दोनों नेताओं ने शपथ समारोह में आने की बात कही है। मंत्रिमंडल गठन से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि कर्नाटक कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल को पार्टी ने इस बारे में अधिकृत किया है। इसलिए विभागों के बंटवारे और उप मुख्यमंत्री के मुद्दे पर मंगलवार को उनसे बातचीत होगी। उसी बैठक में यह तय होगा कि कौन डिप्टी सीएम होगा।

इससे पहले दिल्ली पहुंचने के बाद कुमारस्वामी बसपा सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की और सरकार गठन पर चर्चा की। कुमारस्वामी ने मायावती को भी शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता दिया है। माना जा रहा है कि बसपा के एकमात्र विधायक को भी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। मायावती से मुलाकात के बाद कुमारस्वामी ने सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी से फोन पर बातचीत की और उन्हें भी 23 मई को प्रस्तावित शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता दिया। कहा जा रहा है कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनाने में सीताराम येचुरी ने बड़ी भूमिका निभाई है। उन्होंने गठबंधन करने के लिए एचडी देवगौड़ा को मनाया था।

बता दें कि कर्नाटक चुनाव से पहले मार्च में कुमारस्वामी ने ‘लाइव मिंट’ को दिए एक इंटरव्यू में कांग्रेस को बीजेपी से भी अधिक खतरनाक करार दिया था और कहा था, “मैंने इस देश के लोकतांत्रिक व्यवस्था में कई बार कहा है कि वे (कांग्रेस) बीजेपी की तुलना में अधिक खतरनाक हैं। आज अगर हम बीजेपी के बगल में खड़े हैं और खांस रहे हैं तो इसमें कांग्रेस को हमारा शुक्रिया अदा करना चाहिए। वरना, बीजेपी कांग्रेस को कर्नाटक से बाहर धकेल देती। कांग्रेस पार्टी की जो भी गरिमा है वह जेडी (एस) की वजह से है। सिद्धारमैया की अगुआई वाली कांग्रेस बीजेपी की जेड या वाई टीम है। जेडी(एस) के बारे में बार-बार चर्चा करके कांग्रेस खुद कर्नाटक से बाहर जा रही है, जैसा कि भाजपा कहती रही है कि वो कांग्रेस मुक्त राज्य बनाएंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सोनिया-राहुल से पहले कुमारस्वामी की मायावती संग मीटिंग, येचुरी से भी की बात
2 कर्नाटक चुनाव की इन बातों से उठा सवाल- 2019 में मोदी नहीं तो राहुल भी नहीं बन पाएंगे पीएम?
3 कांग्रेस के ऑफर पर कुमारस्‍वामी का खुलासा- गुलाम नबी आजाद ने मुझे फोन किया और कहा- तुरंत हां या ना कीजिए