ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद लौटेंगे बीजेपी विधायक, गुड़गांव के रिजॉर्ट में हैं 75 MLA

हरियाणा में एक रिजॉर्ट में ठहरे हुए कर्नाटक के भाजपा विधायक शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद अपने राज्य लौटने पर फैसला लेंगे।

Author नई दिल्ली | Updated: January 17, 2019 3:41 PM
हरियाणा में एक रिजॉर्ट में ठहरे हुए कर्नाटक के भाजपा विधायक शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद अपने राज्य लौटने पर फैसला लेंगे। सूत्रों ने बताया कि राज्य भाजपा अध्यक्ष बी एस येदयुरप्पा और पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार उन 12 विधायकों में शामिल हैं

हरियाणा में एक रिजॉर्ट में ठहरे हुए कर्नाटक के भाजपा विधायक शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद अपने राज्य लौटने पर फैसला लेंगे।
सूत्रों ने बताया कि राज्य भाजपा अध्यक्ष बी एस येदयुरप्पा और पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार उन 12 विधायकों में शामिल हैं जो तुमकुर में सिद्दगंगा के प्रतिष्ठित लिंगायत मठ प्रमुख श्री शिवकुमार स्वामी को देखने बेंगलुरू लौट गए। मठ प्रमुख बीमार हो गए हैं। सूत्रों ने बताया कि वर्तमान में शोभा कारंदलाजे समेत करीब 75 भाजपा विधायक गुड़गांव के रिजॉर्ट में ठहरे हुए हैं और वे तब तक वहां रहेंगे जब तक पार्टी नेता उन्हें कर्नाटक लौटने की मंजूरी नहीं दे देते।
उन्होंने बताया कि भाजपा, कांग्रेस की पार्टी विधायकों के बीच एकजुटता दिखाने के लिए शुक्रवार को होने वाली विधायक दल की बैठक के नतीजों का इंतजार करेगी।

सिद्दरमैया के कार्यालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, ‘‘सीएलपी नेता सिद्दरमैया की अध्यक्षता में कांग्रेस विधायक दल की बैठक राज्य सचिवालय के कांफ्रेंस हॉल में 18 जनवरी को शाम साढ़े तीन बजे होनी है।’’ अपने असंतुष्ट विधायकों को मनाने के प्रयास के तहत कांग्रेस की यह बैठक काफी मायने रखती है। ऐसी खबर है कि असंतुष्ट विधायक भाजपा में जाने की तैयारी में हैं।

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी के कुछ मंत्रियों ने बड़े हित में पद छोड़ने की भी पेशकश की है ताकि गठबंधन को एकजुट रखा जा सके। उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व भी इस विकल्प पर गौर कर रहा है। इस तरह की खबर है कि कुछ विधायकों से संपर्क नहीं हो पा रहा है जिनमें कम से कम तीन से पांच विधायक मुंबई में भाजपा के कुछ नेताओं के साथ हैं।

गौरतलब है कि कर्नाटक में मंगलवार को दो निर्दलीय विधायकों ने राज्य की एच डी कुमारस्वामी नीत जद(एस)-कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस ले लिया है जिससे राजनीतिक संकट खड़ा होता दिखाई दे रहा है। केंद्रीय मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने मंगलवार को कहा कि अगर कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार गिर जाती है तो भाजपा सरकार बनाने की दावेदारी पेश करेगी।

मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा कि उन्हें 120 विधायकों का समर्थन हासिल है और आरोप लगाया कि येद्दयुरप्पा ‘‘उनकी सरकार को गिराने के लिए व्यर्थ प्रयास’’ कर रहे हैं। राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 104 विधायक, कांग्रेस के 79, जद एस के 37, बसपा, केपीजेपी और निर्दलीय के एक-एक विधायक हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Election 2019 Updates: कांग्रेस से गठबंधन को लेकर आया आप नेता गोपाल राय का बयान
2 तेजस्वी ने नीतीश कुमार को बताया ‘नैतिक भ्रष्टाचार का भीष्म पितामह’
3 भाजपा को मिला सबसे ज्यादा चंदा, जानें बाकी पार्टियों का हाल
IPL 2020 LIVE
X