ताज़ा खबर
 

कर्नाटक चुनाव: सीएम सिद्धारमैया का नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला, बोले- ट्रोल की तरह व्यवहार करते हैं पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक में आयोजित चुनावी जनसभाओं में राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर निशाना साधा था। सीएम ने उनके बयानों पर पलटवार करते हुए उनकी तुलना ट्रोल से कर डाली है। कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में प्रचार अभियान भी जोरों पर है।

Author Updated: May 2, 2018 7:03 PM
कर्नाटक के कलबुर्गी में कांग्रेस की एक रैली में सीएम सिद्धारमैया।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के करीब आते ही जुबानी हमले भी तेज हो गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (1 मई) को कर्नाटक में कई चुनावी रैलियों को संबोधित किया था। पीएम मोदी ने इस दौरान कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाया था। उन्होंने मंच पर सोने को लेकर सीएम सिद्धारमैया पर तंज कसा था। कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने अब इस पर पलटवार किया है। उन्होंने पीएम मोदी की तुलना ट्रोल से कर दी है। सिद्धारमैया ने कहा कि प्रधानमंत्री बेवजह के मुद्दों पर बेहतर तरीके से ध्यान लगाए रहते हैं। स्लीप एपनिया (नींद से जुड़ी समस्या) का ‘मखौल’ उड़ाने के लिए उन्होंने मोदी को एक ‘आम ट्रोल’ करार दिया। सिद्धारमैया ने कहा, ‘स्लीप एपनिया के कारण मुझे कभी-कभार दिन में भी नींद आने लगती है। मैंने इसका इलाज कराया है, लेकिन उन्होंने (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) एक सामान्य ट्रोल की तरह मेरी हालत का मजाक उड़ाया।’ स्लीप एपनिया में अक्सर दिन में नींद आने की समस्या सामने आती है।

चुनावी रैली में पीएम मोदी ने कहा था, ‘हार के डर से उन्होंने (सीएम सिद्धारमैया) सीट बदल ली और दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। पुराने सीट से बेटे को चुनाव लड़ने भेज दिया। यह कर्नाटक के सोने वाले मुख्यमंत्री का इनोवेशन है।’ सिद्धारमैया इस बार चांमुडेश्वरी और बादामी से विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि उनका बेटा यतींद्र वरुणा सीट से चुनाव मैदान में हैं। कर्नाटक के सीएम ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या नहीं कहा: वह जनार्दन रेड्डी के नेतृत्व वाले खनन माफिया का समर्थन क्यों कर रहे हैं? महादायी विवाद को सुलझाने में हमारी मदद क्यों नहीं रहे हैं? बैंक कंपनियों के 2.71 लाख करोड़ रुपये माफ कर रहा तो किसानों के लिए कर्ज राहत पैकेज क्यों नहीं दिया जा रहा है? पेट्रोल की कीमतें क्यों लगातार बढ़ रही हैं?’ सिद्धारमैया ने राफेल लड़ाकू विमान खरीद समझौते और पंजाब नेशनल बैंक घेटाले पर भी सवाल उठाए। बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को एक चरण में विधानसभा चुनाव होंगे, जबकि 15 मई को काउंटिंग होगी। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के अलावा जनता दल सेक्युलर तीसरी बड़ी राजनीतिक ताकत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कर्नाटक चुनाव: अमित शाह ने डिनर टेबल पर बैठाया तो हुआ समझौता, गले मिले दो बीजेपी नेता