ताज़ा खबर
 

Haryana Election Results 2019: कभी ‘बच्चा पार्टी’ कह उड़ाया गया था JJP का मजाक, अब निभा सकती है ‘किंगमेकर’ की भूमिका

Haryana Vidhan Sabha Election/Chunav Results 2019: जिस पार्टी को कभी बच्चा पार्टी कहा गया था, आज वह सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रही है। जननायक जनता पार्टी (JJP) की सफलता ने कई दलों में खलबली मचा दी है।

चंडीगढ़जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के नेता दुष्यंत चौटाला (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

Haryana Vidhan Sabha Election/Chunav Results 2019: हरियाणा के सबसे नए राजनीतिक दल जननायक जनता पार्टी यानी कि जेजेपी महज 11 महीने पहले बनी थी। इसका गठन हरियाणा के पूर्व सीएम देवीलाल ने परपोते दुष्यंत चौटाला ने किया। उस वक्त आईएनएलडी और कांग्रेस ने ‘बच्चा पार्टी’ कहकर इसका मजाक उठाया था। आज यही राजनीतिक पार्टी हरियाणा में किंगमेकर की भूमिका में पहुंच चुकी है। जेजेपी की सफलता से विरोधी राजनीतिक दलों में खलबली मच गई है।

जेजेपी ने कांग्रेस और बीजेपी को चौंकाया : विधानसभा चुनावों में जेजेपी के प्रदर्शन ने कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सहित कई दलों को चौंका दिया है। इन दोनों दलों ने दुष्यंत चौटाला को अपने पाले में खींचने के लिए संदेश भेजे हैं। हालांकि, अभी तक किसी भी पार्टी को उन्होंने अपने समर्थन के बारे में आधिकारिक घोषणा नहीं की है, लेकिन सूत्रों ने कहा है कि हरियाणा में अगली सरकार बनाने के लिए जेजेपी ने भाजपा को समर्थन देने का फैसला किया है।

चौटाला कबीले के नए नेतृत्वकर्ता हैं दुष्यंत :  हरियाणा में 10 सीटें जीतकर जननायक जनता पार्टी (JJP) न केवल राज्य में एक किंगमेकर के रूप में उभरा है, बल्कि इसने इस बहस को भी खत्म कर दिया है कि विरासत में मिली राजनीतिक पिच पर चौटाला कबीले का नेतृत्व कौन करेगा। चौटाला के नेतृत्व वाले इनेलो को भी इस चुनाव में कोई खास सफलता नहीं मिली। केवल दुष्यंत के चाचा अभय चौटाला ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र से अपनी पार्टी के लिए एक सीट जीतने में कामयाब रहे, जबकि इनेलो को 18 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा।

दुष्यंत युवा जाटों के बीच काफी लोकप्रिय : 2014 में इनेलो के बैनर तले अपना पहला चुनाव जीतने वाले दुष्यंत युवा जाटों के बीच केवल इसलिए लोकप्रिय नहीं हुए कि वे एक प्रमुख जाट समुदाय से ताल्लुक रखते थे, बल्कि चौटाला पिता-पुत्र की जोड़ी के प्रति पार्टी संगठन के भीतर असंतोष के कारण भी। ओम प्रकाश चौटाला और अजय चौटाला को नौकरी के घोटाले में शामिल होने के कारण जेल में डाल दिया गया था।

 

Next Stories
1 खट्टर कल ले सकते है सीएम पद की शपथ, चुने गए भाजपा विधायक दल के नेता
2 निर्दलीय MLA पर भड़के दीपेंद्र हुड्डा, कहा- खट्टर सरकार का हिस्सा बनने वालों को ‘लोग जूतों से मारेंगे’, खोद रहे राजनीतिक कब्र
3 Haryana में निर्दलीयों संग ‘जुगाड़’ करेगी BJP, कमलनाथ बोले- सरकार बनेगी, लेकिन लोग इसे भूलेंगे नहीं
चुनावी चैलेंज
X