ताज़ा खबर
 

Jharkhand Election: सीएम रघुवर दास के खिलाफ ताल ठोक रहे पूर्व BJP नेता सरयू राय के ऑफिस पर हमला, चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज

Jharkhand Election Attack on Saryu Rai Office : सरयू राय के पोल‍िंंग एजेंट मिश्रा का कहना है क‍ि व‍िरोधी लगातार उनके नेता और कार्यकर्ताओं को परेशान कर रहे हैं।

Author Updated: December 2, 2019 3:07 PM
सरयू राय कभी भाजपा के कद्दावर नेता माने जाते थे लेकिन इस बार टिकट नहीं मिलने से नाराज हैं।

Jharkhand Election Attack on Saryu Rai Office : झारखंड व‍िधानसभा चुनाव को लेकर राज्‍य में माहौल लगातार गरम हो रहा है। राजनीत‍िक गरमी बढ़ने के साथ-साथ ह‍िंंसा की घटनाएं भी हो रही हैं।   ट‍िकट कटने के बाद बीजेपी से बगावत कर सीधे मुख्‍यमंत्री रघुवर दास को चुनौती देने वाले उम्‍मीदवार सरयू राय के चुनावी दफ्तर पर हमला हुआ है। इसकी पुल‍िस और चुनाव आयोग से श‍िकायत दर्ज कराई गई है। रघुवर सरकार में मंत्री रहे सरयू राय जमशेदपुर पूर्वी से न‍िर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। यहां से खुद सीएम भी उम्‍मीदवार हैं।

शनिवार की देर रात बागुनहातू में सरयू राय के चुनावी कार्यालय में तोड़फोड़ की गई। इसके बाद इलाके में माहौल थोड़ा तनावपूर्ण हो गया था।  राय के पोल‍िंंग एजेंट मुकुल मिश्रा ने सिदगाेड़ा थाना में तोड़फोड़ की श‍िकायत दी है। साथ ही, चुनाव आयोग के पास भी इसकी श‍िकायत भेजी गई है।

राय का यह दफ्तर घटना से महज पांच दि‍न पहले ही शुरू क‍िया गया था। मुकुल म‍िश्रा का कहना है क‍ि तोड़फोड़ का मकसद हमें डराना है, लेक‍िन हम यह मकसद कामयाब नहीं होने देंगे।   सरयू राय प‍िछला चुनाव जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से जीते थे। वह सरकार में मंत्री भी थे। पर, भाजपा ने उन्‍हें ट‍िकट नहीं द‍िया।

उनका कहना है क‍ि वह लगातार सरकार और प्रशासन में व्‍याप्‍त भ्रष्‍टाचार की बात मुख्‍यमंत्री से उठाते रहे थे। इसी वजह से उन्‍हें ट‍िकट नहीं द‍िया गया। इसके बाद उन्‍होंने सीधे मुख्‍यमंत्री को चुनौती देने के मकसद से जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय प्रत्याशी के ताैर पर पर्चा भरा।

सरयू राय के पोल‍िंंग एजेंट मिश्रा का कहना है क‍ि व‍िरोधी लगातार उनके नेता और कार्यकर्ताओं को परेशान कर रहे हैं। उनके मुताब‍िक बर्मामाइंस के रघुवरनगर में जब सरयू राय प्रचार करने पहुंचे थे, तो वहां भी उन्‍हें रोका गया था। इस वजह से उस समय झड़प भी हुई थी।

सरयू राय झारखंड में बीजेपी के कद्दावर नेता हुआ करते थे। लेक‍िन, जब व‍िधानसभा चुनाव के ल‍िए उम्‍मीदवारों की पहली ल‍िस्‍ट जारी हुई तो उनका नाम नदारद था। इसके बाद वह द‍िल्‍ली पहुंचे और बड़े नेताओं से मुलाकात की। ”इंड‍ियन एक्‍सप्रेस” को द‍िए इंटरव्‍यू में बकौल राय, ‘मैंने पार्टी नेतृत्‍व को साफ कहा क‍ि टिकट नहीं देना है तो न दें लेकिन साफ-साफ बता दें। इसके बाद भी तीन ल‍िस्‍ट में मेरा नाम नहीं आना तकलीफदेह था।’ फ‍िर राय ने और इंतजार क‍िए ब‍िना अपनी उम्‍मीदवार की घोषणा कर दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Jharkhand Assembly Election: कांग्रेस उम्मीदवार ने लहराई पिस्टल, BJP समर्थकों से झड़प के बाद हिरासत में लिए गए; VIDEO वायरल
2 Jharkhand Assembly Election 2019: पहले चरण के लिए मतदान संपन्न, 63 फीसदी लोगों ने दिए वोट
ये पढ़ा क्या?
X