ताज़ा खबर
 

प्रियंका की ससुराल में कांग्रेस उम्मीदवार ने रोते हुए कहा- मैं बाहरी नहीं, मेरा दर्द समझो, रात को ड्रिप लेकर दिन में सभाएं कर रहा हूं

भरे हुए गले के साथ इमरान ने कहा, 'अल्लाह जानता है कि मैं सांसद का टैग नहीं चाहता। मैं आपके लिए आवाज उठाना चाहता हूं। मैं यहां काफी उम्मीदों के साथ आया हूं।'

इमरान प्रतापगढ़ी एक जनसभा के दौरान। (image source-facebook/imran pratpgarhi profile)

कांग्रेस ने यूपी की मुरादाबाद सीट से इमरान प्रतापगढ़ी को अपना उम्मीदवार बनाया है। शुक्रवार को चुनाव प्रचार में अपने भाषण के दौरान वह भावुक हो उठे। शहर के जामा मस्जिद ग्राउंड पर एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए 30 साल के इस शायर ने कहा, ‘मैं बाहरी नहीं हूं।’ ऐसा कहकर वह सुबकने लगे। उर्दू के शायर इमरान युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हैं।

बता दें कि मुरादाबाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का ससुराल भी है। भरे हुए गले के साथ इमरान ने कहा, ‘अल्लाह जानता है कि मैं सांसद का टैग नहीं चाहता। मैं आपके लिए आवाज उठाना चाहता हूं। मैं यहां काफी उम्मीदों के साथ आया हूं।’ आगे उन्होंने कहा, ‘इन आंसुओं की इज्जत रखिएगा। ये फर्जी नहीं हैं।’ इमरान को सुनने वाली भीड़ में काफी तादाद में युवा भी थे। इन लोगों ने अपने मोबाइल फोन की फ्लैशलाइट जलाकर नारा लगाया, ‘हम तुम्हारे साथ हैं।’ इमरान यूट्यूब पर बेहद लोकप्रिय हैं। उनके चैनल के 8.43 लाख सब्सक्राइबर हैं। जहां तक मुरादाबाद का सवाल है, यह जगह पीतल कारीगरी के लिए मशहूर है। माना जाता है कि नोटबंदी की वजह से इस व्यवसाय पर काफी असर पड़ा था।

भीड़ को संबोधित करते हुए इमरान ने कहा, ‘मैं बेहद खुशहाल जिंदगी जी रहा था। लेकिन यहां मैं रैलियों को संबोधित कर रहा हूं और लोगों से मुलाकात कर रहा हूं। आधी रात के बाद मैं डॉक्टर के पास जाता हूं ताकि इंजेक्शन और ड्रिप ले सकूं और सुबह दोबारा शुरू हो जाता हूं। अगर मैंने अपनी जिंदगी दांव पर लगाई है तो आप मेरे मुरादाबादी लोग नहीं समझेंगे तो कौन समझेगा?’ बता दें कि इमरान के विरोधी उनपर बाहरी होने का रोप लगा रहे हैं। उनके नाम से प्रतापगढ़ी जुड़ा है। वह प्रतापगढ़ के रहने वाले है, जोकि मुरादाबाद से 500 किमी दूर है। मुरादाबाद सीट से क्रिकेटर से राजनेता बने मोहम्मद अजरुद्दीन भी 2009 में चुनाव जीत चुके हैं। इस बार इस सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला है। यहां बीजेपी के वर्तमान सांसद सर्वेश सिंह और बीएसपी-एसपी-आरएलडी के उम्मीदवार एसडी हसन भी मैदान में हैं। इमरान के सामने पहली बड़ी चुनौती यहां के करीब 40 फीसदी अल्पसंख्यक वोटरों को अपने पक्ष में करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Loksabha Elections 2019: तीसरे चरण में 66% पड़े वोट, सबसे अधिक कहां हुआ मतदान; जानें
2 तीसरे चरण में 117 लोकसभा सीटों पर मतदान शुरू, राहुल गांधी-अमित शाह की भी किस्मत तय करेंगे वोटर्स
3 National Hindi News, 23 April 2019 Highlights: बीजेपी की 26वीं लिस्ट में 3 उम्मीदवारों के नाम, गुरदासपुर से चुनाव लड़ेंगे सनी देओल