ताज़ा खबर
 
  • मिजोरम

    BJP+ 0
    Cong+ 0
    MNF+ 0
    OTH+ 0
  • राजस्थान

    Cong+ 14
    BJP+ 7
    RLM+ 0
    OTH+ 0
  • मध्य प्रदेश

    BJP+ 5
    Cong+ 6
    BSP+ 0
    OTH+ 0
  • छत्तीसगढ़

    BJP+ 2
    Cong+ 2
    JCC+ 0
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 4
    TDP-Cong+ 2
    BJP+ 0
    OTH+ 0

* Total Tally Reflects Leads + Wins

हिमाचल प्रदेश चुनाव नतीजे 2017: पार्टी जीती, सीएम उम्मीदवार समधी समेत हारे

धूमल के चुनाव हारने के बाद अब सीएम पद के लिए नए नामों पर अटकलें तेज हो गई हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ प्रेम कुमार धूमल। धूमल सुजानपुर से चुनाव हार गए हैं। (File Photo/Facebook)

हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव के नतीजे चौकाने वाले रहे हैं। भले ही राज्य में भारतीय जनता पार्टी की जीत हुई हो मगर उसके मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल चुनाव हार गए हैं। पार्टी ने उन्हें सुजानपुर से उम्मीदवार बनाया था। वहां उनके ही पुराने शिष्य राजेन्द्र राणा ने पटखनी दे दी। धूमल के समधी और बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर के ससुर और पूर्व मंत्री गुलाब सिंह ठाकुर भी चुनाव हार गए हैं। उन्हें दुबई के कारोबारी प्रकाश राणा ने हराया। पार्टी के हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष और कद्दावर नेता सत्यपाल सेट्टी भी उना से चुनाव हार गए हैं। वो यहीं से मौजूदा विधायक थे। बीजेपी के इन महारथियों के चुनाव हारने से जीत का मजा किरकिरा हो गया है।

धूमल के चुनाव हारने के बाद अब सीएम पद के लिए नए नामों पर अटकलें तेज हो गई हैं। शिमला से लेकर नई दिल्ली तक राजनीतिक गलियारे में सीएम के संभावित उम्मीदवारों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के अलावा सिराज से चुनाव जीतने वाले जयराम ठाकुर का नाम भी चर्चा में है। बता दें कि मौजूदा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने एक दिन पहले ही भविष्यवाणी की थी कि बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल चुनाव हार जाएंगे।

गौरतलब है कि 68 सदस्यों वाली हिमाचल प्रदेश विधान सभा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)  को 44 सीटें मिली हैं जबकि सत्तारूढ़ कांग्रेस को 21 और अन्य के खाते में 03 सीटें गई हैं। हिमाचल विधानसभा चुनाव में बहुमत के लिए 35 सीटों की जरूरत है जिसे बीजेपी ने आसानी से पा लिया है।

प्रेम कुमार धूमल साल 1998-2003, 2007-2012 तक हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा धूमल हिमाचल प्रदेश बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इससे पहले वह पार्टी के गढ़ हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ते रहे हैं लेकिन इस बार उन्होंने पारंपरिक सीट छोड़कर दूसरी सीट से चुनाव लड़ा था। राज्य में 9 नवंबर को वोट डाले गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App